Dharm

गंगा सप्तमी…

गंगा सप्तमी जिसे गंगा जयंती भी कहा जाता है. यह पर्व मां गंगा के पृथ्वी पर अवतरण का प्रतीक है और इसे वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को मनाया जाता है, जो आमतौर पर अप्रैल या मई माह में पड़ता है.

महत्व: –

गंगा सप्तमी का धार्मिक महत्व अत्यंत उच्च है. पौराणिक कथाओं के अनुसार, इस दिन मां गंगा स्वर्ग से धरती पर अवतरित हुई थीं. राजा भगीरथ ने अपने पूर्वजों की आत्माओं को मोक्ष दिलाने के लिए कठिन तपस्या की थी, जिसके परिणामस्वरूप गंगा का अवतरण हुआ. भगवान शिव ने गंगा को अपनी जटाओं में धारण किया और धीरे-धीरे उन्हें पृथ्वी पर उतारा, जिससे उनकी तेज धारा से पृथ्वी को नुकसान न पहुंचे. इस दिन को मां गंगा के पवित्रता और शुद्धि के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है.

गंगा सप्तमी के दिन, भक्त विशेष पूजा-अर्चना करते हैं और गंगा स्नान का आयोजन करते हैं. मान्यता है कि इस दिन गंगा में स्नान करने से सभी पापों का नाश होता है और पुण्य की प्राप्ति होती है.

गंगा जल को पवित्र माना जाता है और इसे घरों में छिड़कने से शुद्धि मानी जाती है. इस दिन दान-पुण्य का विशेष महत्व है. लोग जरूरतमंदों को अन्न, वस्त्र, और धन का दान करते हैं.

पौराणिक कथाओं का पाठ और श्रवण भी किया जाता है, जिसमें गंगा के अवतरण की कथा सुनाई जाती है. गंगा सप्तमी का यह पर्व हमें यह संदेश देता है कि हमें अपने जीवन को पवित्र और शुद्ध बनाना चाहिए, जैसे गंगा की धारा, और धर्म और सदाचार के मार्ग पर चलना चाहिए.

==========  =========  ===========

Ganga Saptami…

Ganga Saptami which is also called Ganga Jayanti. This festival symbolizes the descent of Mother Ganga on earth and is celebrated on the Saptami Tithi of Shukla Paksha of Vaishakh month, which usually falls in the month of April or May.

Importance: –

The religious importance of Ganga Saptami is very high. According to mythology, on this day Mother Ganga descended from heaven to earth. King Bhagiratha performed severe penance to attain salvation for the souls of his ancestors, as a result of which Ganga descended. Lord Shiva held Ganga in his locks and slowly lowered her to the earth, so that her strong current did not harm the earth. This day is celebrated as a symbol of purity and purification of Mother Ganga.

On the day of Ganga Saptami, devotees perform special prayers and organize Ganga bath. It is believed that bathing in Ganga on this day destroys all sins and attains virtue.

Ganga water is considered sacred and sprinkling it in homes is considered purifying. Charity has special importance on this day. People donate food, clothes and money to the needy.

Mythological stories are also read and heard, in which the story of the descent of Ganga is narrated. This festival of Ganga Saptami gives us the message that we should make our lives sacred and pure, like the stream of Ganga, and should follow the path of religion and morality.

5/5 - (2 votes)
:

Related Articles

Back to top button