Article

हत्याओं का कारण…

हत्याओं की तीन वजहें दुनिया में देखी गयी है, जिसे जर (धन), जोरू (प्रेम संबंध) और ज़मीन कहते हैं। राजीव गांधी की हत्या की क्या वजह थी? इसे अगर लिट्टे के हिसाब से देखें तो एक तरह की ‘ऑनर किलिंग’ हो सकती है कि श्रीलंकाई तमिलों की हत्या का प्रतिशोध लिया। लेकिन ऐसी परिस्थिति में वे चूहा-बिल्ली का खेल नहीं खेलते। न ही इसका खंडन करते। वे गर्व से कहते- ‘हाँ! हमने इस कारण सजा दी’

इस मामले में लिट्टे का तरीका सदा से भिन्न रहा। वे संकेत देते मगर घोषणा नहीं करते। ट्रेल छोड़ते, मगर सिर्फ़ इतने कि लोग समझ जाएँ, और अनजान भी रहें। इस कारण वे लंबे समय तक आतंकवादी संगठनों की सूची से बाहर रहे। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और श्रीलंका के राष्ट्रपति प्रेमदासा को बैक-टू-बैक बम से उड़ाने के बाद भी। वह तो जब अमरीका के ट्विन टावर अल-क़ायदा ने उड़ाए, तब जाकर उन्होंने लिट्टे को आतंकवादी संगठन की सूची में डाला।शिवरासन बेवकूफ़ नहीं था कि अपना वायरलेस ट्रांसमिटर, अपनी डायरी, अपने गवाह पीछे छोड़ता जा रहा था। वह शायद चाहता था कि यह बात बाहर जाती रहे, तमिल क़िस्तों में समझते रहे कि बंधु! हम ही हैं। ‘द हिंदू’ में छाप दो। एक समानांतर केस बिल्ड करो जिसमें हत्या के तर्क का तड़का हो। जैसा भारत में गांधी उपनाम के तीन हत्याओं में होता रहा है। सीबीआई अफ़सर राघोतमन ने इन तीनों हत्याओं की जाँच को जोड़ कर किताब भी लिखी है।खैर, जब शिवरासन के अड्डे पर सीबीआई की टीम पहुँची, वहाँ उन्हें वह दंपति मिले जिन्होंने इतने दिनों से शिवरासन को अपने घर में रखा था। राजीव गांधी की हत्या के समय भी। बीच मद्रास में! तुम्हारा नाम क्या है और शिवरासन को कैसे जानते हो?मेरा नाम विजयन है। मैं गाड़ी मेकैनिक हूँ, और जाफ़ना में अक्सर लिट्टे की गाड़ियाँ मरम्मत करता था। वहीं जान-पहचान हो गयी’

भारत कब आए, और क्यों?आइपीकेएफ के आने के बाद लिट्टे को जंगलों में जाना पड़ा। मेरा बिजनेस कमजोर पड़ गया, तो मेरे ससुर भास्करन ने यहाँ बुला लिया..सितंबर महीने में पिछले साल (1990) हीऔर शिवरासन तुम्हें ढूँढता हुआ आ गया?सर! मुझे मालूम नहीं था कि तुम्हें मालूम नहीं था कि लिट्टे के लोग क्या करते हैं?यहाँ तो कभी कुछ नहीं करते। मद्रास में इलाज वगैरा या किसी काम से आते हैं। इसलिए ऐसा कुछ शक नहीं हुआ कि वे कोई हत्या करने आए हैं। साथ में लड़कियाँ भी थी तुम कह रहे हो कि ये हत्यारे तुम्हारे घर में रहे, यहाँ से वायरलेस पर बातें की, एक दिन गए और इतना बड़ा विस्फोट कर आए। यूँ ही? तुम्हें कुछ खबर नहीं हुई हमारे सर पर लिखा है क्या?

कभी-कभी शक होता था। जैसे वे लड़कियाँ एक काला बैग लेकर बाहर जाती थी…एक बार शिवरासन ने रसोई में खुदाई कर कुछ सामान ज़मीन के नीचे दबाए। मगर ये सब तो मैंने लिट्टे के लोगों को पहले भी करते देखा था। इसलिए इतने बड़े कांड का शक नहीं हुआ उस दिन कुछ अजीब तो था। शुभा साड़ी पहनने में अमूमन मेरी पत्नी की मदद लेती। उस दिन नहीं ली। धनु ने सलवार कमीज पहनी और एक चश्मा भी डाल लिया, जो वह नहीं पहनती थी। और शिवरासन…सफ़ेद कुर्ता-पाजामा में तो मैं उसे पहचान ही नहीं पाया। मैंने पूछा- कहाँ जा रहे हो?उसने मुझे कैमरा पकड़ा दिया और कहा हमारी फोटो खींचो। मैं फोटो खींचने लगा। मुझे लगा यूँ ही कहीं घूमने जा रहे ।नहीं। अगली सुबह साइकल पर शिवरासन आया और उसने दुखी होकर कहा- राजीव गांधी की हत्या हो गयी धनु के संबंध में कुछ नहीं बताया। शुभा लौट आयी थी। उसके बाद वह दस अखबार मंगवाने लगा उसने कहा कि वह राजीव गांधी हत्या पर खबरें पढ़ना चाहता है। उसे रोचक लगता हैऔर एक दिन’एक दिन मैंने अखबार में शिवरासन की तस्वीर देखी। उसने मेरी तरफ़ देखा। मैं थर-थर काँपने लगा। मेरी पत्नी गर्भवती है। वह तो सकते में आ गयी उसने मुझे दस हज़ार रुपए दिए और मुस्कुरा कर कहा रसोई की मरम्मत कर लो। मैं मूँछें काट लेता हूँ। शायद तुम्हें कम डर लगे।

=================== ===================

Three reasons for killings have been seen in the world, which are called Jar (Dhan), Joru (love affair), and land. What was the reason for Rajiv Gandhi’s assassination? If you look at this according to the LTTE, then there can be a kind of ‘honor killing’ that Sri Lankan took vengeance for the killing of Tamils. But in such a situation, they do not play the game of rat cat. Nor denied it. He would proudly say- ‘Yes! We punished for this reason

In this case, the method of LTTE was always different. They indicate but do not announce. Leave the trail, but only so much that people understand, and remain unknown. For this reason, he remained on the list of terrorist organizations for a long time. Even after blowing former Prime Minister of India Rajiv Gandhi and Sri Lankan President Premadasa with a back-to-back bomb. That is when the US twin tower al-Qaeda flew, and he went to the list of terrorist organizations. Shivarasan was not stupid that his wireless transmitter, his diary, and his witnesses were left behind. He probably wanted that this thing goes out, Tamil kept understanding in the sticks that brothers! We are the only ones. Give an impression in ‘The Hindu’. Build a parallel case that contains the temper of murder argument. In India, Gandhi has been in three murders of the surname. CBI officer Raghotman has also written a book linking the investigation of these three murders. Even at the time of Rajiv Gandhi’s assassination. Beach in Madras! What is your name and how do you know Shivarasan? My name is Vijayan. I am a car mechanic and used to repair LTTE vehicles in Jaffna. I got acquainted there

When India came, and why? After the arrival of IPKF, LTTE had to go to the forests. When my business weakened, my father-in-law Bhaskaran called here. In the month of September (1990) and Shivarasan came looking for you. Sir! I did not know that you did not know what the people of LTTE do. Never do anything here. Treatment in Madras comes from Vagaira or some work. So there was no doubt that they had come to commit any murder. Along with this, there were girls, you are saying that these killers stayed in your house, talked to wireless from here, and one day went and came out such a big explosion. Just like this? Have you not been informed on our head?

Sometimes there was doubt. Like those girls used to go out with a black bag… Once Shivarasan excavated in the kitchen and pressed some items under the ground. But I had seen all these people doing this before. So there was no doubt of such a big scandal that day was something strange. Shubha would usually seek my wife’s help in wearing a saree. Did not take that day. Dhanu wore a salwar kameez and also put a glasses that she did not wear. And Shivarasan… I could not recognize him in a white kurta-pajama. I asked where are you going? He caught on the camera and said take our photo. I started taking photos. I felt that he was going to roam somewhere. The next morning Shivarasan came on the cycle and he said sadly- Rajiv Gandhi was killed and did not say anything about Dhanu. Shubha returned. After that, he started asking ten newspapers, and he said that he wants to read the news on Rajiv Gandhi’s murder. He feels interested and one day ‘I saw a picture of Shivarasan in the newspaper. He looked towards me. I started trembling. My wife is pregnant. She came in the can, she gave me ten thousand rupees and smiled and said, repair the kitchen. I bite the mustache. Perhaps you get less scared.

Prabhakar Kumar.

Rate this post
:

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!