Article

महिला जननांग विकृति के लिए जीरो टॉलरेंस का अंतर्राष्ट्रीय दिवस…

हर वर्ष 06 फरवरी के दिन अंतरराष्ट्रीय महिला जननांग विकृति के खिलाफ जीरो टॉलरेंस दिवस मनाया जाता है. जीरो टॉलरेंस दिवस की शुरुआत 06 फरवरी 2023 से की गई थी.  

जीरो टॉलरेंस और विभिन्न प्रकार के विभिन्न जननांग विकृतियों के खिलाफ जागरूकता और समर्थन बढ़ाने का एक अवसर है. इस दिन के माध्यम से लोग जीरो टॉलरेंस के खिलाफ एकजुट होकर जागरूकता फैलाते हैं और महिलाओं और जननांग विकृतियों के अधिकारों का समर्थन करते हैं.

इस दिन के माध्यम से, समुदायों और संगठनों द्वारा विभिन्न प्रकार की गतिविधियाँ, सेमिनार, वेबिनार, सड़क प्रदर्शन और जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जो इस मुद्दे को सार्वजनिक ध्यान में लाने में मदद करते हैं.

जीरो टॉलरेंस के दिन का मुख्य उद्देश्य है कि समाज सभी महिलाओं और जननांग विकृतियों को समानता, समरसता और समर्थन प्रदान करें, और उनके अधिकारों का समर्थन करें, ताकि वे भी समाज में जीवन का सदुपयोग कर सकें.

==========  =========  ===========

International Day of Zero Tolerance for Female Genital Mutilation

Every year on 6 February, International Day of Zero Tolerance against Female Genital Mutilation is celebrated. Zero Tolerance Day was started from 06 February 2023.

Zero tolerance and an opportunity to raise awareness and support against various forms of genital mutilation. Through this day people unite against zero tolerance and spread awareness and support the rights of women and genital mutilation.

Through this day, a variety of activities, seminars, webinars, street demonstrations and awareness programs are organized by communities and organizations which help in bringing this issue to public attention.

The main objective of Zero Tolerance Day is that the society should provide equality, harmony and support to all women and those with genital mutilation, and support their rights, so that they can also enjoy life in the society.

: [responsivevoice_button voice="Hindi Female"]

Related Articles

Back to top button