Article

मणिपुर, मेघालय और त्रिपुरा का राज्य स्थापना दिवस

स्थापना दिवस उस निर्दिष्ट या विशेष तिथि है जिस दिन किसी राष्ट्र, राज्य की स्थापना या किसी सैन्य इकाई के निर्माण का जश्न मनाया जाता है. यह दिन उन देश व राज्यों के लिए है जो स्वतंत्रता प्राप्त करने की आवश्यकता के बिना अस्तित्व में आए हों.

आज के दिन पूर्वोतर के तीन राज्यों का स्थापना दिवस मनाया जा रहा है वो राज्य है मणिपुर, मेघालय और त्रिपुरा.  

मणिपुर: – मणिपुर भारत का एक पूर्वी राज्य है और इसकी राजधानी इंफाल है. मणिपुर राज्य के उत्तर और दक्षिण में मिज़ोरम, पश्चिम में असम, और पूर्व में अन्तर्राष्ट्रीय सीमा से म्यांमार लगा हुआ है. यहाँ के मूल निवासी है मेइती जनजाति. जो घाटी क्षेत्र में ही रहते हैं और इनकी भाषा है मेइतिलोन (मणिपुरी भाषा) है. इस भाषा को 1992 में भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में सम्मिलित किया गया था. यहाँ के पर्वतीय भाग में नागा व कुकी जनजाति के लोग भी निवास करते हैं.

बताते चलें कि, आजादी के बाद मणिपुर की पूर्व रियासतों को वर्ष 1949 में भारत में मिलाया गया था. मणिपुर को 2 अप्रैल, 1970 को स्वायत्त राज्य का दर्जा प्रदान किया गया. और फिर असम से अलग होने के बाद यह 21 जनवरी, 1972 में पूर्ण राज्य बना और 60 निर्वाचित सदस्‍यों की विधानसभा का भी गठन किया गया था.

मेघालय: – मेघालय का शाब्दिक अर्थ है- “मेघों का आलय” अर्थात “बादलों का घर“. यह एक पहाड़ी राज्‍य है. यहाँ के मूल निवासी – खासी, जैंतिया और गारों आदिवासी समुदाय हैं. राज्य के मध्‍य और पूर्वी भाग में खासी और जैंतिया पहाड़ियाँ और एक विशाल पठारी क्षेत्र है.

मेघालय भारत के उत्तर पूर्व में स्थित एक राज्य है. जिसे पूर्व का स्कॉटलैण्ड भी कहा जाता है. बताते चलें कि, मेघालय का निर्माण असम के अंतर्गत 2 अप्रैल, 1970 को एक स्‍वतंत्र राज्‍य के रूप में किया गया था. इसकी उत्तरी और पूर्वी सीमाएँ असम से और दक्षिणी तथा पश्चिमी सीमाएँ बांग्लादेश से मिलती हैं.

बताते चलें कि, आजादी के बाद मेघालय की पूर्व रियासतों को वर्ष 1949 में भारत में मिलाया गया था. मेघालय को 2 अप्रैल, 1970 को स्वायत्त राज्य का दर्जा प्रदान किया गया. और फिर असम से अलग होने के बाद यह 21 जनवरी, 1972 में पूर्ण राज्य का दर्जा मिला था.

त्रिपुरा: प्राचीन काल में ‘त्रिपुर’ नामक राजा इस क्षेत्र में शासन करता था, उसी के नाम पर ही इस राज्य का वर्तमान नाम पडा.  प्रथम शासक महाराजा महा माणिक्य और अंतिम शासक महाराजा वीर विक्रम किशोर माणिक्य बहादुर के बीच माणिक्य की शाही उपाधि धारण करके रियासत पर शासन किया. महारानी कंचन प्रवा देवी त्रिपुरा राज्य के राजा वीर विक्रम किशोर देव वर्मा की पत्नी के रूप में त्रिपुरा की रानी थीं. वर्ष 1947 में अपने पति की मृत्यु के बाद, वह वर्ष 1949 में भारत में विलय होने तक त्रिपुरा की शासक रहीं.

त्रिपुरा राज्य, जिसे हिल टिपेराह के नाम से भी जाना जाता है.  त्रिपुरा दक्षिण एशिया के पूर्वोत्तर भाग में स्थित है. त्रिपुरा उत्तर, पश्चिम व दक्षिण में बांग्लादेश, पूर्व में मिज़ोरम और पूर्वोत्तर में असम राज्य से घिरा है. यहाँ पांच प्रमुख पहाड़ी श्रृंखलाएं राज्य को लगभग उत्तर-दक्षिण दिशा में पार करती हैं और चटगांव पहाड़ी क्षेत्र में दक्षिण की ओर बढ़ती हैं. इन पर्वतमालाओं को आम तौर पर 20 किमी चौड़ी संकरी घाटियाँ अलग करती हैं.

बताते चलें कि, गोवा तथा सिक्किम के बाद भारत का तीसरा सबसे छोटा राज्य है त्रिपुरा. अगरतला त्रिपुरा की राजधानी है. वहां के मूल निवासी बोरोक या बोरो या वोडो है और उनकी भाषा है  बंगाली और त्रिपुरी भाषा (कोक बोरोक).21 जनवरी 1972 को त्रिपुरा को पूर्ण राज्‍य का दर्जा का मिला था.

==========  =========  ===========

Statehood Day of Manipur, Meghalaya and Tripura

Foundation Day is a specified or special date on which the foundation of a nation, a state or the creation of a military unit is celebrated. This day is for those countries and states which came into existence without the need to gain independence.

Today, the foundation day of three North-Eastern states is being celebrated; those states are Manipur, Meghalaya and Tripura.

Manipur: – Manipur is an eastern state of India and its capital is Impala. Manipur state is bordered by Mizoram in the north and south, Assam in the west, and Myanmar on the international border in the east. The original inhabitants here are Meitei tribe. Who live in the valley area and their language is Mention (Manipuri language). This language was included in the Eighth Schedule of the Indian Constitution in 1992. People of Naga and Kuki tribes also live in the mountainous parts here.

Let us tell you that after independence, the former princely states of Manipur were merged into India in the year 1949. Manipur was granted the status of an autonomous state on April 2, 1970. And then after separation from Assam, it became a full state on January 21, 1972 and an assembly of 60 elected members was also formed.

Meghalaya: – The literal meaning of Meghalaya is – “Abode of Clouds” i.e. “Home of Clouds”. This is a hill state. The original inhabitants here are Khasi, Jaintia and Garo tribal communities. The central and eastern parts of the state consist of the Khasi and Jaintia hills and a vast plateau region.

Meghalaya is a state located in the north-east of India. Which is also called Scotland of the East. Let us tell you that Meghalaya was created as an independent state under Assam on April 2, 1970. Its northern and eastern borders are with Assam and its southern and western borders are with Bangladesh.

Let us tell you that after independence, the former princely states of Meghalaya were merged into India in the year 1949. Meghalaya was granted the status of an autonomous state on April 2, 1970. And then after separation from Assam, it got the status of a full state on January 21, 1972.

Tripura: – In ancient times, a king named ‘Tripur’ used to rule this region; the present name of this state was named after him. Between the first ruler Maharaja Maha Manikya and the last ruler Maharaja Bir Bikram Kishore Manikya Bahadur, he ruled the state by assuming the royal title of Manikya. Maharani Kanchan Prava Devi was the queen of Tripura as the wife of King Bir Bikram Kishore Debbarma of Tripura state. After the death of her husband in 1947, she remained the ruler of Tripura until its merger with India in 1949.

Tripura state, also known as Hill Tipperah. Tripura is located in the north-eastern part of South Asia. Tripura is bounded by Bangladesh in the north, west and south, Mizoram in the east and Assam state in the north-east. Here five major hill ranges cross the state in a roughly north-south direction and extend southwards into the Chittagong Hill Tracts. These mountain ranges are generally separated by narrow valleys up to 20 km wide.

Let us tell you that Tripura is the third smallest state of India after Goa and Sikkim. Agartala is the capital of Tripura. The natives there are Borok or Boro or Bodo and their language is Bengali and Tripuri language (Kok Borok). Tripura got full statehood on 21 January 1972.

: [responsivevoice_button voice="Hindi Female"]

Related Articles

Back to top button