Dharm

देवों के देव महादेव…

आचार्य अजीत पाण्डेय(अयोध्या).

हिन्दू परम्परा बड़ी ही अलौकिक है, इस परम्परा का इतिहास सदियों पुराना है. उसी प्रकार हिन्दू परम्परा के ग्रन्थ भी अलौकिक है. ग्रंथों में लिखे गये श्लोक भी वैज्ञनिक दृष्टिकोण से सौ प्रतिशत सही साबित होते हैं. इस परम्परा के अनुसार हर दिन व हर माह भी अपने आप में अनूठा है. वर्तमान समय में श्रावण का महिना चल रहा है और इस महीने के देवता भगवान भोलेनाथ है. ग्रंथों के अनुसार भगवान भोलेनाथ का नाम की महिमा का वर्णन किया गया है. ग्रंथों में त्रिदेव का वर्णन आया है, उन त्रिदेव में एक नाम भगवान भोलेनाथ या यूँ कहें कि, महादेव का भी जिक्र आता है.

शिवपुराण के अनुसार भगवान भोलेनाथ के बारे में कहा जाता है कि, कोई भी साधक स्वच्छ दिल से एक लोटा जल चढ़ा दे तो महादेव प्रसन्न हो जाते हैं. वेद के अनुसार भोलेनाथ को ‘रूद्र’ भी कहा जाता है या यूँ कहें कि, जो चेतना के अन्तर्यामी है. इनका एक नाम शिव भी है जिन्हें योगी के रूप में देखे जाते हैं जिनके गले में नाग, हाथ में डमरू और त्रिशूल लिए रहते हैं और इनका निवास स्थान कैलाश है. पौराणिक ग्रंथों के अनुसार शिव को संहार का देवता भी माना जाता है. शिव सभी जीवों को समान दृष्टि से देखते हैं इसीलिए इन्हें महादेव भी कहा जाता है. शिवपुराण में भगवान महादेव को प्रसन्न करने के लिए कई अचूक उपाय बताये गये हैं जो इतने सरल है कि, कोई भी साधक इन उपायों को बड़ी ही आसानी से प्रयोग कर सकता है. ये उपाय निम्नलिखित हैं….

  1. भगवान शिव को चावल चढ़ाने से धन की प्राप्ति होती है.
  2. तिल चढ़ाने से पापों का नाश हो जाता है.
  3. जौ अर्पित करने से सुख में वृद्धि होती है.
  4. गेहूं चढ़ाने से संतान वृद्धि होती है.

नोट:- यह सभी अन्न भगवान को अर्पण करने के बाद गरीबों में बांट देना चाहिए.

आचार्य अजीतजी बताते हैं कि, विभिन्न तरह के रस या द्रव्य चढ़ाने पर साधक को मनोवांछित फल प्राप्त होते हैं. आइये जानते हैं कि, विभिन्न तरह के रस या द्रव्य चढाने पर क्या-क्या फल प्राप्त होता है…

  1. बुखार होने पर भगवान शिव को जल चढ़ाने से शीघ्र ही लाभ मिलता है. सुख व संतान की वृद्धि के लिए भी जल द्वारा शिव की पूजा उत्तम बताई गई है.
  2. तेज दिमाग के लिए शक्कर मिला दूध भगवान शिव को चढ़ाना चाहिए.
  3. अगर साधक शिवलिंग पर गन्ने के रस से अभिषेक करे तो उसे सभी आनंदों की प्राप्ति होती है.
  4. भगवान शिव को गंगा जल चढ़ाने से भोग व मोक्ष दोनों की प्राप्ति होती है.
  5. शहद से भगवान शिव का अभिषेक करने से टीबी रोग में आराम मिलता है.
  6. यदि कोई साधक शारीरिक रूप से कमजोर हो तो उसे भगवान शिव का अभिषेक गाय के शुद्ध घी से करना चाहिए.

भगवान भोलेनाथ को फूल चढ़ाने से का फल…

  1. लाल व सफेद आंकड़े के फूल से भगवान शिव का पूजन करने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है.
  2. चमेली के फूल से पूजन करने पर वाहन सुख मिलता है.
  3. अलसी के फूलों से शिव का पूजन करने पर साधक भगवान विष्णु का प्रिय होता है.
  4. शमी वृक्ष के पत्तों से पूजन करने पर मोक्ष प्राप्त होता है.
  5. बेला के फूल से पूजन करने पर सुंदर व सुशील पत्नी मिलती है.
  6. जूही के फूल से भगवान शिव का पूजन करें तो घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती है
  7. कनेर के फूलों से भगवान शिव का पूजन करने से नए वस्त्र मिलते हैं
  8. हरसिंगार के फूलों से पूजन करने पर सुख-सम्पत्ति में वृद्धि होती है.
  9. धतूरे के फूल से पूजन करने पर भगवान शिव सुयोग्य पुत्र प्रदान करते हैं, जो कुल का नाम रोशन करता है.
  10. दूर्वा से भगवान शिव का पूजन करने पर आयु बढ़ती है.

इन उपायों से भी प्रसन्न होते हैं भगवान महादेव…

  1. सावन में रोज 21 बिल्वपत्रों पर चंदन से ऊं नम: शिवाय लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं तो इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं.
  2. अगर आपके घर में किसी भी प्रकार की परेशानी हो तो सावन में रोज सुबह घर में गोमूत्र का छिड़काव करें साथ ही गुग्गुल का धूप दें.
  3. यदि आपके विवाह में अड़चन आ रही है तो सावन में रोज शिवलिंग पर केसर मिला हुआ दूध चढ़ाएं. इससे जल्दी ही आपके विवाह के योग बन जाते हैं.
  4. सावन में रोज नंदी (बैल) को हरा चारा खिलाएं, इससे जीवन में सुख-समृद्धि आती है साथ ही मन प्रसन्न भी रहता है.
  5. सावन में गरीबों को भोजन कराएं, इससे आपके घर में कभी अन्न की कमी नहीं होगी तथा पितरों की आत्मा को शांति मिलेगी.
  6. सावन में रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निपट कर समीप स्थित किसी शिव मंदिर में जाएं और भगवान शिव का जल से अभिषेक करें और उन्हें काले तिल अर्पण करें. इसके बाद मंदिर में कुछ देर बैठकर मन ही मन में ऊं नम: शिवाय मंत्र का जाप करें, इससे मन को शांति मिलेगी.
  7. सावन में किसी नदी या तालाब जाकर आटे की गोलियां मछलियों को खिलाएं, जब तक आप आतें की गोलियां खिला रहें होते हैं तब तक मन ही मन में भगवान शिव का ध्यान करते रहें. यह धन प्राप्ति का बहुत ही सरल उपाय है.

आमदनी बढ़ाने के लिए…

सावन के महीने में किसी भी दिन घर में पारद शिवलिंग की स्थापना करें और उसकी यथा विधि पूजन करें. इसके बाद नीचे लिखे मंत्र का 108 बार जप करें-

।ऐं ह्रीं श्रीं ऊं नम: शिवाय: श्रीं ह्रीं ऐं।।

बीमारी ठीक करने के लिए उपाय….

सावन में किसी सोमवार को पानी में दूध व काले तिल डालकर शिवलिंग का अभिषेक करें. अभिषेक के लिए तांबे के बर्तन को छोड़कर किसी अन्य धातु के बर्तन का उपयोग करना चाहिए. अभिषेक करते समय “ऊं जूं स:” मंत्र का जाप करते रहें. इसके बाद भगवान शिव से रोग निवारण के लिए प्रार्थना करें और प्रत्येक सोमवार को रात में सवा नौ बजे के बाद गाय के सवा पाव कच्चे दूध से शिवलिंग का अभिषेक करने का संकल्प लें. इस उपाय से बीमारी ठीक होने लगती है.

आचार्य अजीत पाण्डेय(अयोध्या).

=========== =========== =========

Mahadev- The Lord of all Gods…

Acharya Ajit Pandey (Ayodhya).

Hindu tradition is very supernatural, the history of this tradition is centuries old. Similarly, the books of Hindu tradition are also supernatural. The verses written in the scriptures also prove to be hundred percent correct from the scientific point of view. According to this tradition, every day and every month is unique in itself. At present, the month of Shravan is going on and the deity of this month is Lord Bholenath. According to the scriptures, the glory of the name of Lord Bholenath has been described. The description of Tridev has come in the scriptures, in that Tridev’s one name Lord Bholenath or should we say, Mahadev, is also mentioned.

According to Shivpuran, it is said about Lord Bholenath that, if any seeker with a pure heart offers a glass of water, then Mahadev becomes happy. According to Vedas, Bholenath is also called ‘Rudra’ or should we say, who is the inner soul of consciousness. One of his names is Shiva, who is seen as a yogi with a snake around his neck, a damru, and a Trishul in his hands, and his abode is Kailash. According to mythological texts, Shiva is also considered the god of destruction. Shiva sees all living beings equally, that is why he is also called Mahadev. In Shivpuran, many infallible measures have been given to please Lord Mahadev, which are so simple that any seeker can use these measures very easily. These measures are as follows…

  1. Offering rice to Lord Shiva brings wealth.
  2. Offering sesame destroys the sins.
  3. Offering barely increases happiness.
  4. By offering wheat, children increase.

Note:- After offering all this food to God, it should be distributed among the poor.

Acharya Ajitji explains that, by offering different types of juice or liquid, the seeker gets desired results. Let us know what the results obtained by offering different types of juices or liquids…

  1. Offering water to Lord Shiva in case of fever gives quick benefits. Worshiping Shiva with water has been said to be the best for the happiness and growth of children.
  2. For a sharp mind, milk mixed with sugar should be offered to Lord Shiva.
  3. If the seeker does Abhishek on Shivling with sugarcane juice, then he gets all the happiness.
  4. By offering Ganga water to Lord Shiva, both enjoyment and salvation are attained.
  5. Abhishek of Lord Shiva with honey gives relief to TB disease.
  6. If a seeker is physically weak, then he should anoint Lord Shiva with pure cow ghee.

The result of offering flowers to Lord Bholenath…

  1. Salvation is attained by worshiping Lord Shiva with red and white flowers.
  2. On worshiping with Jasmine flower, you get vehicle happiness.
  3. On worshiping Shiva with linseed flowers, the seeker becomes dear to Lord Vishnu.
  4. Salvation is attained by worshiping with the leaves of the Shami tree.
  5. On worshiping with the Bela flower, one gets a beautiful and gentle wife.
  6. If you worship Lord Shiva with a Juhi flower, then there is no shortage of food in the house.
  7. Worshiping Lord Shiva with Kaner flowers gives new clothes.
  8. Worshiping with 8. Harsingar flowers increase happiness and wealth.
  9. On worshiping with the Dhatura flower, Lord Shiva bestows a worthy son, who brings glory to the family.
  10. Life increases by worshiping Lord Shiva with Durva.

Lord Mahadev is pleased even with these measures…

  1. Write Om Namah Shivay with sandalwood on 21 bilva leaves and offer them on the Shivling, then all your wishes can be fulfilled.
  2. If there is any kind of problem in your house, then sprinkle cow urine in the house every morning in the month of Sawan and give incense to Guggul.
  3. If there is a problem in your marriage, then offer milk mixed with saffron on the Shivling every day in Sawan. With this, the chances of your marriage are soon made.
  4. Feed green fodder to Nandi (bull) every day in Sawan, it brings happiness and prosperity in life and also keeps the mind happy.
  5. Offer food to the poor in Sawan, there will never be a shortage of food in your house and the souls of the forefathers will find peace.
  6. Wake up early in the morning every day in Sawan, after taking a bath, etc., go to a nearby Shiva temple and anoint Lord Shiva with water and offer black sesame seeds to him. After this, sit in the temple for some time and chant the Om Namah Shivay mantra in your mind, this will give peace to the mind.
  7. Go to a river or pond in Sawan and feed flour tablets to the fish, as long as you are feeding flour tablets, keep meditating on Lord Shiva in your mind. This is a very easy way to get money.

To increase income…

Establish Parad Shivling at home on any day in the month of Sawan and worship it according to the method. After this chant the following mantra 108 times-

Om Hreen Shreen Om Nam: Shivaay: Shreen Hreen Ain ।।

The remedy to cure the disease…

Anointing Shivling by adding milk and black sesame in water on any Monday in Sawan. Any other metal utensil should be used for Abhishek except copper utensils. Keep chanting the mantra “Om Jun Sah” while doing Abhishek. After this, pray to Lord Shiva for the cure of diseases and take a pledge to anoint the Shivling with raw cow’s milk every Monday after 9.15 pm. With this remedy, the disease starts getting cured.

Acharya Ajit Pandey (Ayodhya).

: [responsivevoice_button voice="Hindi Female"]

Related Articles

Back to top button