News

व्यक्ति विशेष

भाग - 45.

स्वतन्त्रता सेनानी तिलका माँझी

स्वतंत्रता सेनानी तिलका माँझी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महत्वपूर्ण नेता थे.उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभाई थी.  तिलका माँझी का जन्म 11 फरवरी 1750 को बिहार के सुल्तानगंज में ‘तिलकपुर’ नामक गाँव में एक संथाल परिवार में हुआ था.

तिलका माँझी ने अपने प्रदेश में भ्रष्टाचार, न्याय की अभाव, और अंधविश्वास के खिलाफ लड़ा। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपनी जान की कुर्बानी दी और अंग्रेजों के खिलाफ गुड़गाँव, जमालपुर, और अन्य स्थानों पर लड़ा.

तिलका माँझी का नाम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान स्तर पर स्थायी किया गया है. उन्हें भारत सरकार द्वारा वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. उनके प्रेरणादायक जीवन और साहस की कहानी आज भी लोगों को प्रेरित करती है.

==========  =========  ===========

अभिनेत्री टीना मुनीम

टीना मुनीम एक प्रमुख भारतीय अभिनेत्री हैं, जिन्होंने अपनी अभिनय कला के माध्यम से फ़िल्म उद्योग में महत्वपूर्ण स्थान हासिल किया है. उनके पति का नाम अनिल अंबानी है.

टीना मुनीम का जन्म 11 फरवरी, 1955 को हुआ था. उन्होंने 1975 में एक अंतर्राष्ट्रीय सौन्दर्य प्रतियोगिता को जीता था. उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत 1978 में फिल्म देस-परदेस से की थी.

फ़िल्में: –

देस परदेस, आप के दीवाने, कर्ज़, रॉकी, ये वादा रहा, सुराग, पु्कार, बड़े दिल वाला, सौतन, आखिर क्यों?, समय की धारा और मुकद्दर का फैसला आदि.

टीना मुनीम को उनके अभिनय के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है.

==========  =========  ===========

अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा

अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा भारतीय सिनेमा की प्रमुख अभिनेत्री हैं. उन्होंने अपनी अभिनय कला के माध्यम से फिल्म उद्योग में अपनी अलग पहचान बनाई है.

अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा का जन्म जन्म 11 फ़रवरी 1984 को हैदराबाद में हुआ था.उनका वास्तविक नाममोना चोपड़ा है. उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत 2005 में फिल्म टाइमपास से की थी.

फ़िल्में: –

टाईम पास, रेड स्वस्तिक, गेम, दोस्ती और नॉटी बॉट  आदि.

उन्होंने कई हिंदी फिल्मों में सहायक भूमिकाये अदा की. निर्देशक रुपेश पॉल की इंग्लिश फिल्म कामसूत्र 3 डी की मुख्य हीरोइन भी रह चुकीं हैं. शर्लिन कलर्स के बहुचर्चित और बहुविवादित शो बिगबॉस सीजन 3 का हिस्सा रह चुकीं हैं.

==========  =========  ===========

निर्माता-निर्देशक कमाल अमरोही

कमाल अमरोही एक प्रसिद्ध भारतीय फिल्म निर्माता और निर्देशक हैं. उन्होंने अपने कैरियर के दौरान कई महत्वपूर्ण फिल्मों का निर्माण और निर्देशन किया है. वे भारतीय सिनेमा में अपने उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रसिद्ध हैं.

कमाल अमरोही का जन्म 17 जनवरी 1918 को उत्तर प्रदेश के अमरोहा के ज़मींदार परिवार में  हुआ था. उनका वास्तविक नाम सैयद आमिर हैदर है. कमाल अमरोही के काम पर उनके व्यक्तित्व की छाप रहती थी.

प्रसिद्ध फिल्में: –

फ़िल्म महल – रहस्य और रोमांस के ताने-बाने से बुनी मधुर गीत-संगीत और ध्वनि के कल्पनामय इस्तेमाल से बनी यह फ़िल्म सुपरहिट रही. इस फिल्म का निर्देशन कमाल अमरोही ने किया था.

फिल्म पाकीज़ा – पाकीज़ा कमाल की ज़िंदगी का ड्रीम प्रोजेक्ट थी और इस फिल्म का भी निर्देशन कमाल ने ही  किया था. फिल्म पाकीजा की बेहतरीन संवाद, गीत-संगीत, दृश्यांकन और अभिनय से सजी इस फ़िल्म ने रिकार्डतोड़ कामयाबी हासिल की और आज यह फ़िल्म इतिहास की क्लासिक फ़िल्मों में गिनी जाती है.

जेलर (1938), मैं हारी (1940), भरोसा (1940), मज़ाक (1943), फूल (1945), शाहजहां (1946), महल (1949), दायरा (1953), दिल अपना और प्रीत पराई (1960), मुग़ले आजम (1960), पाकीज़ा (1971), शंकर हुसैन (1977) और रज़िया सुल्तान (1983), भरोसा (1940) आदि.

कमाल अमरोही ने अपने कलात्मक दृष्टिकोण और कला के प्रति उनकी समर्पणशीलता के लिए सिनेमा उद्योग में महत्वपूर्ण स्थान हासिल किया है.

==========  =========  ===========

फ़ख़रुद्दीन अली अहमद

फ़ख़रुद्दीन अली अहमद भारत के पाँचवें राष्ट्रपति रहे हैं। उनका कार्यकाल 24 जुलाई 1974 से 24 जुलाई 1977 तक था. वे भारतीय राजनीति में एक प्रमुख और प्रभावशाली व्यक्ति थे. उन्होंने भारतीय समाज और राजनीति में विभिन्न क्षेत्रों में अपना योगदान दिया।

फ़ख़रुद्दीन अली अहमद जी का जन्म 13 मई, 1905 को पुरानी दिल्ली के हौज़ क़ाज़ी इलाक़े में हुआ था और उनका निधन 11 फरवरी 1977 को हुआ था. उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिया और स्वतंत्रता की लड़ाई में अपना समर्थन प्रदान किया. उनके प्रमुख कार्यक्षेत्रों में शामिल भारतीय राजनीति, शिक्षा और सामाजिक न्याय शामिल हैं.

==========  =========  ===========

दीनदयाल उपाध्याय

दीनदयाल उपाध्याय भारतीय राजनीतिज्ञ और एक प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता थे. उन्हें भारतीय राजनीति में एक महान विचारक के रूप में माना जाता है और उनके विचारों ने भारतीय राजनीति को नए दिशाएँ दिखाई। उन्होंने भारतीय जनसंघ की स्थापना की, जो बाद में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

दीनदयाल उपाध्याय का जन्म 25 सितंबर, 1916 को ब्रज के पवित्र क्षेत्र मथुरा ज़िले के छोटे से गाँव ‘नगला चंद्रभान’ में हुआ था. उन्होंने भारतीय समाज में विशेष रूप से गरीबी के मुद्दे पर ध्यान केंद्रित किया और आर्थिक समानता के लिए लड़ा.

उन्होंने भारतीय जनसंघ को 1951 में स्थापित किया, जो बाद में भारतीय जनता पार्टी के रूप में जानी गई. उन्होंने आर्थिक विकास, सामाजिक न्याय, और एकात्मता के मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए लगातार काम किया.

दीनदयाल उपाध्याय का निधन 11 फरवरी 1968 को हुआ था. उनके विचार और उनका कार्य आज भी भारतीय राजनीति में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं.

==========  =========  ===========

उद्योगपति जमनालाल बजाज

जमनालाल बजाज भारत के एक प्रमुख उद्योगपति थे और भारतीय उद्योग के एक महत्वपूर्ण स्तम्भ माने जाते हैं. उन्होंने बजाज ग्रुप की स्थापना की, जो विभिन्न क्षेत्रों में उद्योग और व्यापार में गतिविधियों को संचालित करता है.

जमनालाल बजाज का जन्म  4 नवम्बर, 1889 को राजस्थान के एक छोटे से गांव काशी का वास में हुआ था. उन्होंने उद्योग और व्यापार में अपनी कुशलता के बल पर बजाज ग्रुप को एक महान उद्यमी संस्था बनाया. उन्होंने उद्योग विकास में अपनी नेतृत्व की भूमिका निभाई और उनका योगदान भारतीय अर्थव्यवस्था को स्थिरता और समृद्धि में मदद करने में महत्वपूर्ण रहा.

उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में उद्योगों की स्थापना की, जिसमें अटूल ऑटो, बजाज ऑटो, बजाज इलेक्ट्रिकल्स, बजाज स्टील और बजाज फिन्सर्व को शामिल किया गया. जमनालाल बजाज के योगदान के लिए पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित किया गया.

जमनालाल बजाज का निधन 11 फ़रवरी 1942 को हुआ था, लेकिन उनका योगदान उद्योग और समाज के लिए हमेशा याद किया जाएगा.

==========  =========  ===========

फ़िल्म निर्देशक रवि टंडन

रवि टंडन एक प्रमुख भारतीय फ़िल्म निर्देशक हैं. उन्होंने अपने निर्देशन क्षमता और कला के माध्यम से फ़िल्म उद्योग में महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

रवि टंडन का जन्म 17 फ़रवरी, 1935 को उत्तर प्रदेश में आगरा शहर के माइथान में एक पंजाबी फैमिली में हुआ था. उन्होंने अपनी कैरियर की शुरुआत फिल्म निर्देशक आर. के. नय्यर के सहायक के रूप में काम शुरू किया उसके बाद उन्होंने फ़िल्म निर्देशन की दुनिया में कदम रखा था.

प्रमुख फ़िल्में: – नजराना , मुकद्दर, मजबूर, खेल खेल में, अनहोनी, खुद्दार, जिंदगी आदि.

फ़िल्म निर्देशन: – लव इन शिमला,  ये रास्ते हैं प्यार के, अनहोनी, खेल खेल में आदि.

रवि टंडन का निधन 11 फ़रवरी, 2022 को मुम्बई में हुआ था.

: [responsivevoice_button voice="Hindi Female"]

Related Articles

Back to top button