अर्थशास्त्र से संबंधित(45)… - Gyan Sagar Times
High School

अर्थशास्त्र से संबंधित(45)…

Q :- Mention the calculation methods of National Income?

Production system:- In this system, the value of the total yield of all industries, agriculture, and other types of businesses in the country is extracted at current prices and the net product left by subtracting movable and fixed replacement is the national income of that year. . It is used where data is available.

Income system:- Under this system, national income is estimated by adding the income of two classes of different persons in the country. In this, the income is first divided into five classes.

  1. Salaries of employees.
  2. Income of non-company businesses.
  3. Rental income of individuals.
  4. Benefits of companies.
  5. Income from interest.

National income is determined by adding all the above income.

Mixed system:- Under this system both the production method and income method are used. The production system is used to find the value of the yield of industries in which data related to production is available and income is used to find income in the businesses where these data are not available.

Expenditure system:- Under this system, the total expenditure on goods and services is added in a year to find out the national income. Expenditure is incurred on two items.

  1. Expenditure on consumption.
  2. Expenditure on investment goods.

================  =================  =================

प्र० :-  राष्ट्रीय आय की गणन विधियाँ को उल्लेख करें?

उत्पादन प्रणाली :- इस प्रणाली में देश के समस्त उद्योगों, कृषि तथा अन्य प्रकार के व्यवसायों की कुल उपज का मूल्य चालू कीमतों पर निकाला जाता है और इससे चल व अचल प्रतिस्थापन घटाकर जो शुद्ध उत्पाद बचती है, वही उस वर्ष की राष्ट्रीय आय होती है.  इसका प्रयोग वहाँ किया जाता है जहाँ पर आँकड़े  उपलब्ध होती है.

आय प्रणाली :- इस प्रणाली के अन्तर्गत राष्ट्रीय आय का अनुमान देश के विभिन्न वयक्तियों के दो वर्गो की आय जोड़कर किया जाता है. इसमें सर्वप्रथम आय को पाँच वर्गो में विभाजित किया जाता है.

  1. कर्चचारियों का वेतन.
  2. गैर-कम्पनी व्यापारों की आय.
  3. व्यक्तियों की किराए की आय.
  4. कम्पनियों के लाभ.
  5. ब्याज से आय.

उपरोक्त सभी आय को जोड़कर राष्ट्रीय आय ज्ञात कर ली जाती है.

मिश्रित प्रणाली :- इस प्रणाली के अन्तर्गत उत्पादन रीति व आय रीति दोनों का ही प्रयोग किया जाता हैं.  जिन उद्योगों व्यवसायों में उत्पादन से संबन्धित आँकड़े उपलब्ध होते है उनकी उपज का मूल्य को ज्ञात करने के लिए उत्पादन प्रणाली का प्रयोग किया जाता है तथा जिन व्यवसायों में ये आँकड़े उपलब्ध नहीं होते, उनमें आय ज्ञात करने के लिए आय प्रणाली का प्रयोग किया जाता है.

व्यय प्रणाली :- इस प्रणाली के अन्तर्गत राष्ट्रीय आय को ज्ञात करने के लिए वर्ष भर में वस्तुओं व सेवाओं पर किए जाने वाले कुल व्यय को जोड़ा को जोड़ा जाता है। व्यय दो मदों पर किया जाता है.

  1. उपभोग वस्तु पर व्यय.
  2. निवेश वस्तुओं पर व्यय.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!