अर्थशास्त्र से संबंधित(44)… - Gyan Sagar Times
College

अर्थशास्त्र से संबंधित(44)…

What do you understand by macroeconomics? = Macroeconomics is that part of economics that deals with large groups like total demand, total income, total employment, savings, etc.

What is capitalism called? What are its important features? = The meaning of capitalism is from an economic organization in which the individual has personal rights over the means of production and he uses the means of production to make a profit.

Characteristics of Capitalism…

  1. In a capitalist economy, every person has the right to own property and inheritance.
  2. In a capitalist economy, the goal of every producer is to earn profit.
  3. There is a lack of a central economic plan.
  4. This economy is self-controlled by the price mechanism.
  5. Both producers and consumers are completely independent.
  6. Capitalism is in the economy between class struggle, rich and poor.
  7. In a capitalist economy, the government does not interfere in the economic activities of the people.
  8. Social and economic inequalities are high.

What is the cyclic real flow of income? = Family provides services to firms and firms provide goods to families. Whose flow goes on continuously. This is called the cyclic or real flow of income. Which never ends.

What is monetary flow called? = In a monetary economy, the currency is transacted between families and business firms. It is called monetary flow. Economic resources like land, labor, capital, courage etc. are supplied by the family to commercial firms. A business firm produces various goods and services only with the help of various means of production. These goods and services are demanded by the family sector. The family sector purchases these goods and services from their monetary income.

—————————– ——————————————-

समष्टि अर्थशास्त्र  से आप क्या समझते हो? = समष्टि अर्थशास्त्र, अर्थशास्त्र का वह भाग होता है जिसका सम्बन्ध बड़े समूहो जैसे कुल माँग, कुल आय, कुल रोजगार, बचत आदि से होता है.

पूंजीवाद किसे कहते है? इसकी महत्त्वपूर्ण विशेषताएँ क्या है? = पूंजीवाद काअर्थ यह है कि एक ऐसे आर्थिक संगठन से है, जिसमें उत्पादन के साधनों पर व्यक्ति का निजी अधिकार होता है तथा वह उत्पादन के साधनों का प्रयोग लाभ कमाने के लिए करता है.

पूंजीवाद की विशेषताएँ …

  1. पूंजीवाद अर्थव्यवस्था में प्रत्येक व्यक्ति को सम्पत्ति तथा उत्तराधिकार रखने का अधिकार होता है.
  2. पूंजीवादअर्थव्यवस्था में प्रत्येक उत्पादक का लक्ष्य लाभ कमाना होता है.
  3. इसमें केन्द्रीय आर्थिक योजना का अभाव होता है.
  4. यह अर्थवयवस्था कीमत यन्त्र द्वारा स्वय नियंत्रण होती है.
  5. उत्पादक और उपभोक्ता दोनों पूर्णरूप से स्वतन्त्र होते है.
  6. पूंजीवाद अर्थव्यवस्था में वर्ग-संधर्ष, धनी तथा निर्धन के बीच होता रहता है.
  7. पूंजीवाद अर्थव्यवस्था में सरकार लोगों की आर्थिक क्रियाओं में हस्तक्षेप नहीं करती है.
  8. सामाजिक व आर्थिक असमानताएँ अधिक होती है.

आय का चक्रीय वास्तविक प्रवाह किसे कहते है? = परिवार फर्मों को सेवाएं प्रदान करते है और फर्मों परिवारों को वस्तुएँ प्रदान करती है. जिनका प्रवाह निरन्तर चलता रहता है. इसी को ही आय का चक्रीय या वास्तविक प्रवाह कहते है. जो कभी समाप्त नहीं होता है.

मौद्रिक प्रवाह किसे कहते है? = एक मौद्रिक अर्थव्यवस्था में, परिवारों  एवं व्यावसायिक फर्मों के बीच मुद्रा द्वारा लेन-देन होता है. उसे मौद्रिक प्रवाह कहते है.  परिवार के द्वारा आर्थिक संसाधनों जैसे भूमि, श्रम, पूंजी, साहस आदि की आपूर्ति व्यावसायिक फर्मों  को की जाती है.  एक व्यावसायिक फर्में उत्पादन के विभिन्न साधनों के सहयोग से ही विभिन्न वस्तुओं तथा सेवाओं का उत्पादन करती है. इन वस्तुओं तथा सेवाओं की माँग परिवार क्षेत्र द्वारा की जाती है. परिवार क्षेत्र इन वस्तुओं व सेवाओं का क्रय अपनी मौद्रिक आय से करते हैं.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!