High School

जीव विज्ञान से संबंधित(44)…

Heterotrophic Nutrition

जब कोई जीव किसी अन्य जीव के द्वारा बनाये गये भोजन से पोषण (nutrition) प्राप्त करता हैं, तो उसे विषमपोषी पोषण (Heterotropic Nutrition) कहते हैं, साथ ही ऐसे जीव जो दूसरे जीव द्वारा बनाये गये भोजन से पोषण प्राप्त करते हैं, विषमपोषी (Heterotrophs) कहते हैं.

“हेट्रोट्रॉप्स (Heterotrophs)” एक ग्रीक शब्द है, जो दो शब्दों “हेट्रो (Hetero)” तथा “ट्रॉप्स (Trophs)” के मेल से बना है. “हेट्रो (Hetero)” का अर्थ होता है “दूसरा या अन्य” तथा “ट्रॉप्स (Trophs)” का अर्थ होता है “पोषण” अर्थात दूसरे या अन्य से पोषण. अत: वे जीव जो पोषण के लिये दूसरे जीव पर निर्भर होते हैं, हेट्रोट्रॉप्स (Heterotrophs), अर्थात “विषमपोषी” कहलाते हैं.

पोषण की विधि भोजन के स्वरूप तथा उपलब्धता के आधार पर विभिन्न प्रकार की होती है, साथ ही पोषण प्राप्त करने के तरीके, जीव के भोज़न ग्रहण करने के ढंग पर भी निर्भर करता है. सारे जीव भोजन की उपलब्धता तथा रहने के स्थान के अनुरूप ही विकसित होते हैं. कुछ जीव प्राप्त भोजन को उर्जा प्राप्ति के लिए शरीर के अंदर पाचन के द्वारा विघटित(Decomposed) करते हैं, जैसे कि मनुष्य, कुत्ता, घोड़ा, हाथी, बाघ, शेर, इत्यादि. जबकि कुछ जीव भोजन को शरीर के बाहर ही विघटित कर उसका अवशोषण(Absorption)करते हैं जैसे-फफूँदी, यीस्ट, मशरूम आदि. कुछ जीव भोजन को पूरी तरह अंतर्ग्रहित(Ingested) कर लेते हैं, या यूँ कहें कि “खा” लेते हैं, जैसे कि मनुष्य, बाघ, गाय, शेर, चिड़्या, आदि जबकि कुछ जीव अन्य जीवों को बिना मारे ही उनसे पोषण प्राप्त करते हैं, जैसे कि- जोंक, जूँ, फीताकृमि, अमरबेल आदि.

जीव अपना पोषण(Nutrition) कैसे करते हैं?:-  विभिन्न जीवों के भोजन तथा भोजन के अंतर्ग्रहण की विधि में अंतर होने के कारण उनमें पाचन तंत्र भी भिन्न-भिन्न होते हैं. जैसे- एककोशिक जीव भोजन को शरीर के संपूर्ण सतह से लेते हैं, जैसे अमीबा. अन्य जटिल जीव भोजन को खाने की प्रक्रिया द्वारा शरीर के अंदर कर लेते हैं, जहाँ उसका पाचन होकर विघटन होता है, जैसे कि मनुष्य, गाय, हाथी, घोड़ा, कौआ, आदि जटिल जीव के उदारण हैं.

अमीबा में पोषण:- अमीबा एक एककोशिक जीव है. अमीबा के कोशिकीय सतह (cell surface) पर अँगुली जैसे अस्थायी प्रवर्ध (temporary finger like extensions) होते हैं. अमीबा इन अँगुली जैसे अस्थायी प्रवर्धों (temporary finger like extensions) के द्वारा भोजन को घेर लेते हैं, जो संगलित (Fuse) होकर खाद्य रिक्तिका (food vacuoles) बनाते हैं. इस खाद्य रिक्तिका (food vacuoles) के अंदर जटिल पदार्थों का विघटन सरल पदार्थों में किया जाता है, और वे कोशिकाद्रव्य (Cytoplasm) में विसरित (diffuse) हो जाते हैं. बचा हुआ अपच पदार्थ कोशिका के सतह की ओर गति करता है तथा शरीर से बाहर निष्काषित कर दिया जाता है.

पैरामीशियम भी एककोशिक जीव है, इसकी कोशिका का एक निश्चित आकार होता है. इसके द्वारा भोजन एक निश्चित स्थान (specific spot) से ही ग्रहण किया जाता है. भोजन इस स्थान तक पक्ष्याभ (cilia) की गति द्वारा पहुँचता है, जो कोशिका (cell) की पूरी सतह को ढ़के होते हैं.

Related Articles

Back to top button