News

ऑनलाइन प्रशिक्षण…

बुधवार 16 फरवरी 2022 को राज्य शिक्षा एवं शोध प्रशिक्षण संस्थान एवं बिहार मैथमेटिकल सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में मैथमेटिकल मॉडलिंग पर ऑनलाइन प्रशिक्षण का आयोजन किया गया.

मुख्य अतिथि प्रोफेसर के.सी. सिंहा, कुलपति नालंदा खुला विश्वविद्यालय सह अकादमिक अध्यक्ष बिहार मैथमेटिकल सोसायटी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार में शिक्षकों एवं छात्रों कठिन परिश्रमी होते हैं परंतु उन्हें विशेष रूप से प्रशिक्षित कर शिक्षक क्षमता निर्माण, शिक्षक सामग्री का विकास तथा छात्रों में सीखने के परिणामों की प्रगति पर नजर रखने की आवश्यकता है. वहीँ, बिहार मैथमेटिकल सोसायटी के संयोजक सह संयुक्त सचिव डॉ. विजय कुमार ने कार्यक्रम को संचालित करते हुए कहा कि बिहार मैथमेटिकल सोसायटी ने बिहार ही नहीं अपितु देश के अन्य राज्यों यथा झारखंड में शिक्षा की लौ जलाने के लिए प्रयास कर रही है.साथ ही उन्होंने कहा कि, गणितीय मॉडल के माध्यम से विषयों को रोचक बनाने के साथ बच्चे को खेल खेल में गणित की संक्रिया सीखने की कला को विकसित करने में सहयोग करती है.

बिहार मैथमेटिकल सोसायटी के संयोजक सह संयुक्त सचिव डॉ. कुमार ने सलाह देते हुए कहा कि, हम सभी की सामाजिक दायित्व है कि आने वाली पीढ़ियों को ज्ञानवर्धन में अपेक्षित सहयोग दें. वहीँ, डॉ. रश्मि प्रभा प्रभारी विज्ञान एवं गणित संयुक्त निदेशक डायट शोध राज्य शिक्षा एवं शोध प्रशिक्षण संस्थान ने अतिथियों को स्वागत करते हुए कहा कि मैथमेटिकल मॉडलिंग के माध्यम से विज्ञान एवं गणित के साथ अन्य विषयों को सरल बनाया जा सकता है. कॉलेज ऑफ कॉमर्स आर्ट्स एंड साइंस पटना के प्राचार्य डॉ. तपन कुमार शांडिल्य ने कहा कि, कोविड-19 के आकलन में मैथमेटिकल मॉडलिंग का सहारा लेते हुए इंडियन नेशनल सुपरमॉडल कमिटी का गठन किया गया जिसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आए हैं.

डॉ. इंद्राणी प्रमोद केलकर, एलुमनाई आईआईटी मुंबई सह गणित एडमिन टीसीएस आईओएन  मुंबई एवं पी. के. राय पूर्व विभागाध्यक्ष, गणित विभाग विकास विद्यालय रांची ने कहा कि मैथमेटिक्स मॉडलिंग में एक्टिविटी बेस्ड टीचिंग, कंप्यूटर, ड्राइंग आदि के माध्यम से बच्चों को रोचकता पैदा की जा सकती है.

डॉ. अरिंदम बोस, गणित एवं विज्ञान विभाग, टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंस मुंबई, डॉ. परमेंद्र रंजन, प्राचार्य नारायण कॉलेज गोरिया कोठी, सिवान, संजय कुमार जिला शिक्षा पदाधिकारी मोतिहारी, सुनील कुमार, झारखंड प्लस टू शिक्षक संघ के संरक्षक,डॉ.अरूणदयाल, उपसंयोजक, बीएमएस पटना आदि ने गुणवत्तायुक्त शिक्षा के विकास एवं गणितीय मॉडल आधारित शिक्षण करने की आवश्यकता है.

Related Articles

Back to top button