Health

खरबूजा…

गर्मियों का मौसम चल रहा है और इस समय मौसमी फलों व सब्जियां प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होती है जो इस मौसम में होने वाली बीमारीयों से लड़ने की ताकत देता है. एक ऐसे फल के बारे में बात कर रहें हैं जो देखने में गोल या अंडे के आकर का व इसका रंग हरा, पीला व नारंगी होता है. इसे हिंदी में खरबूजा, अंग्रेजी में मेलन, संस्कृत में दशांगुल या खर्बूज, बंगाली में खरबूजा और लैटिन में कुक्मिस मलो के नाम से जानते हैं.

खरबूजा का फल बहुत ही लाभदायक फल है इसमें भरपूर मात्रा में पानी, खनिज,विटामिन और फाइबर पाया जाता है. खरबूजा जब कच्चा होता है तो देखने में हरे रंग का होता है लेकिन जब ये पक जाता है तो बेल के ही तरह मीठी खुशबू आती है और इसका स्वाद भी मीठा ही होता है. खरबूजे से बहुत ही मीठी खुशबु आती है इसीलिए इसे मस्क मेलन भी कहा जाता है. खरबूजे की खेती मुख्यत: पंजाब, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश बिहार, आन्ध्राप्रदेश, तामिलनाडू व तेलंगाना आदि राज्यों के साथ-साथ विश्व के कई देशों में इसकी खेती होती है. खरबूजा जब कच्चा होता है तब इसे सब्जी के रूप में प्रयोग करते है और पकने पर इसका स्वाद और खुशबू मन को मोह लेती है. ईतना ही नहीं इसके बीजों का प्रयोग पकवानों, मिठाइयों व मेवों के रूप में किया जाता है.

खरबूजे में प्रचुर मात्रा में विटामिन “ए” और “सी”, कॉपर, आयरन, पोटेशियम, मैग्नेशियम और  कैल्शियम पाया जाता है साथ ही इसमें विटामिन “बी” समूह के थायमिन, नियासिन, फोलेट और  पायरोडॉक्सिन भी पाए बजाते हैं. ज्ञात है कि, इसमें भी सिटरुलिना नामक तत्व जो मांसपेशियों को ताकत देता है जिसमें कोलेस्ट्राल की मात्रा नगण्य होती है. खरबूज के बीज में भी कई प्रकार के खनिज और विटामिन पाए जाते हैं. इसके बीज में प्रोटीन और ओमेगा -3 फैटी एसिड का बहुत ही अच्छा श्रोत माना जाता है. ओमेगा -3 फैटी एसिड हार्ट के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है.

बताते चलें कि, खरबूजे के फल में कैलोरी बहुत ही कम होती है साथ ही इसमें पाए जाने वाला फाइबर, पानी, मिनिरल्स और विटामिन मिलकर इसे उचित आहार बनाते है. खरबूजे का फल खाने के बाद जल्दी भूख नहीं लगती है और इसमें मिलने वाल पोटेशियम जो वजन कम करने में सहायक होता है. खरबूजे का नियमित सेवन करने से किडनी को स्वस्थ रखता है साथ ही गुर्दे की पथरी में भी काफी फायदा करता है. चुकीं, खरबूजा खाने के बाद पेशाब ज्यादा होता है इससे किडनी की सफाई होती है और शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं. खरबूजा खाने से यूरिन इन्फेक्शन होने से भी बचाता है.

खरबूजा खाने से त्वचा खूबसूरत और आकर्षक होता है साथ ही त्वचा के रूखेपन को भी दूर करता है. यह दाग, धब्बों और पिम्पल्स से भी बचाता है. बढती उम्र का प्रभाव जो त्वचा पर पड़ता है उससे भी बचाता है. प्रोटीन और विटामिन बी की उपस्थिति के कारण बाल और नाख़ून को मजबूत करता है. इसके नियमित प्रयोग से बाल गिरने कम हो जाते हैं. यह ब्लड प्रेशर को नियमित रखने में मदद करता है साथ ही हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है. इसमें मौजूद फाइबर होने के कारण डायबिटीज में भी लाभदायक होता है. यह आँखों की समस्या को भी दूर करने में मदद करता है खासकर मोतियाबिंद जैसी समस्या को दूर रखने में मदद करता है.

विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होने के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है साथ ही श्वेत रक्त कणों को बढाने में मदद करता है. यह कब्ज को दूर करने में मदद करता है साथ ही अनिद्रा जैसी समस्या को दूर करने में सहायक होता है. प्रतिदिन खरबूजा खाने से दिमाग शांत और तनाव मुक्त होता है तथा स्मरण शक्ति को बढाने में मदद करता है. ध्यान दें कि, एकबार में अधिक मात्रा में खरबूजा नहीं खाना चाहिए. भोजन करने के दो-तीन घंटे बाद ही खरबूजा खाना उपयुक्त होता है.

Related Articles

Back to top button