Dhram Sansar

  • त्रिदेवी का रहस्य…

    पौराणिक ग्रन्थों के अनुसार, सरस्वती, लक्ष्मी और पार्वती ये त्रिदेव की पत्नियां हैं और ये तीनों देवियों को त्रिदेवी के…

    Read More »
  • सबसे बड़ा धनी…

    जब केवट प्रभु के चरण धो चुका, तो भगवान कहते हैं:- भाई, अब तो गंगा पार करा दे। इस पर…

    Read More »
  • योगनी एकादशी…

    सत्संग की समाप्ति के बाद भक्तों ने महाराजजी से पूछा कि, महाराजजी अषाढ़ महीने के कृष्ण पक्ष की जो एकादशी…

    Read More »
  • मानव के उपर राहु का प्रभाव

    नीलाम्बरो नीलवपु: किरीटी करालवक्त्र: करवालशूली। चतुर्भुजश्चर्मधरश्च राहु: सिंहासनस्थो वरदोऽस्तु मह्यम्।। राहु और केतु की प्रतिष्ठा अन्य ग्रहों की भांति ही…

    Read More »
  • निर्जला या पांडव एकादशी…

    सत्संग की समाप्ति के बाद कुछ भक्तों ने महाराजजी से पूछा कि,महाराज जी ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष में जो…

    Read More »
  • कुंडली के बारह भाव में चंद्रमा का फल

    लग्न में चंद्रमा हो तो जातक बलवान, ऐश्वर्यशाली, सुखी, व्यवसायी, गायन-वाद्य प्रिय एवं स्थूल शरीर होता है. दूसरे भाव में…

    Read More »
  • अपरा एकादशी…

    भक्तों ने महाराजजी से पूछा कि, ज्येष्ठ महीने के कृष्ण पक्ष में जो एकादशी होती है उसके व्रत की महिमा…

    Read More »
  • सत्संग…

    आप देख रहें हैं ज्ञानसागरटाइम्स.कॉम . चतरा (समस्तीपुर) में एक विशाल यज्ञ चल रहा है. इस  यज्ञ में अयोध्या के…

    Read More »
  • धूप जलाने के फायदे…

    ‘…गन्धाक्षतम्, पुष्पाणि, धूपम्, दीपम्, नैवेद्यम् समर्पयामि.’ धूप, दीप, चंदन, कुमकुम, अष्टगंध, जल, अगर, कर्पूर, घृत, गुड़, घी, पुष्प, फल, पंचामृत,…

    Read More »
  • अपनी संस्कृति…

    साध्वी श्वेताम्बरजी महाराज से धर्म व संस्कृति विषय बातचीत करते हुए. संकलन :- जेपी और भास्कर Video Link :-  https://youtu.be/pWn6vlUOyVY…

    Read More »
Back to top button
error: Content is protected !!