विश्वकर्मा पुजा की तैयारी…

विश्वकर्मा पुजा की तैयारी…

29
0
SHARE

पूरी दुनिया में एक ऐसा धर्म है जहाँ सृष्टि बनाने से लेकर चलाने के लिए कई तरह के देवता हैं. उन्ही देवताओं में एक ऐसे देवता है जिन्हें देवताओं का इंजीनियर भी कहा जाता हैं. उनका नाम है विश्वकर्मा. पौराणिक धर्मग्रन्थों के अनुसार ब्रह्मा जी के पुत्र धर्म के सातवे संतान जिनका नाम वास्तु था और वो शिल्पकार थे. वास्तु के पुत्र का नाम विश्वकर्मा था जो पिता की भांति शिल्पकार थे. स्कन्द पुराण के अनुसार महर्षि अंगिरा के ज्येष्ठ पुत्र की बहन भुवना जो ब्रह्मविद्या की जानकार थी. जो अष्टम वसु महर्षि प्रभास की पत्नी बनी और उससे सम्पूर्ण शिल्प विद्या के ज्ञाता प्रजापति विश्वकर्मा का जन्म हुआ.

ऋग्वेद के अनुसार शिल्पकारों व रचनाकारों के देवता भगवान विश्वकर्मा है जो ब्रह्मांड के भी रचियता माने जाते हैं. रावण के सौतेले भाई विश्वकर्मा हैं जो भाई के कहने पर त्रिकुट पर्वत पर सोने की लंका का निर्माण किया था. पौराणिक ग्रंथों के अनुसार विश्वकर्मा ने ही माल्यवान, माली और सुमाली नामक राक्षसों के भी महल बनाये थे. पुष्पक विमान का भी निर्माण भगवान विश्वकर्मा ने ही किया था. विश्वकर्मा ने भगवान कृष्ण के लिए द्वारिका नगरी का निर्माण किया था. बिहार के औरंगबाद स्थित देव सूर्य मंदिर व देवघर स्थित बैद्यनाथ मंदिर का भी निर्माण भगवान विश्वकर्मा ने किया था. दूसरी तरफ वर्तमान समय में शिल्पकारों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. शिल्पकारों से बातचीत करने पर बताया कि ….

संकलन :- अशोक सिन्हा.

Video Link :-   https://youtu.be/S8_KU3fA8-w