लोक अदालत में 3213 से अधिक परिवादों का निदान…

लोक अदालत में 3213 से अधिक परिवादों का निदान…

38
0
SHARE
दिव्यांगजनो की समस्याओं को सुनते हुये डॉ० शिवाजी कुमार. छायाचित्र :- प्रभाकर मिश्रा.

शुक्रवार को जमुई अनुमंडल के अंतर्गत सभी प्रखण्डों के मुख्यालय में चलन्त न्यायालय का आयोजन किया गया. चलन्त न्यायालय मे दिव्यांगजनो के परिवादों की सुनवाई की गई. डॉ शिवाजी कुमार (राज्य आयुक्त नि:शक्ता बिहार सरकार) ऑनलाइन सभी प्रखण्ड  अधिकारी को आदेश किया और दिव्यांगजनो सभी समस्याओ को निदान किया जाए. इस मौके पर शशि भूषण कुमार, (सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जमुई) भी उपस्थित थे.

आज के न्यायालय में दिव्यांगता प्रमाणन पत्र राशन कार्ड जॉब कार्ड दिव्यांगता पेंशन आवास योजना प्रधानमंत्री मुद्रा ऋण ड्राइविंग लाइसेंस से सम्बंधित समस्याओं को निदान किया गया और साथ ही में दिव्यांगजनो को ड्राई साइकल एवं उपकरण भी वितरण किया गया. जमुई सदर प्रखण्ड में,550 परिवादों का, लक्ष्मीपुर प्रखण्ड में 210 परिवादों का, बरहट प्रखण्ड में 369 परिवादों का, गया खैरा प्रखण्ड में 270 परिवादों का, सिकन्दरा प्रखण्ड में 185 परिवादों का, इस्लामनगर अलीगंज प्रखण्ड में 289 परिवादों का, चकाई प्रखण्ड में 307 परिवादों का, गिद्धौर प्रखण्ड में 246 परिवादों का, झाझा प्रखण्ड में 298 परिवादों का, सोनो प्रखण्ड में 382  परिवादों का निपटारा किया गया.

डॉ शिवाजी कुमार (राज्य आयुक्त नि:शक्ता बिहार सरकार) के द्वारा जमुई अनुमंडल के अंतर्गत सभी प्रखण्डों का औचक निरक्षण किया गया और दिव्यांगजनो की समस्याओं को सुना साथ ही प्रखण्ड स्तर के सभी अधिकारियों को निपटारा करने के लिए भी आदेश दिया. सभी प्रखण्ड के चिकित्सक पदाधिकारी एवं बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं जमुई प्रखण्ड विकास पदाधिकारी पुरषोत्तम त्रिवेदी एवं जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी मनोज कुमार चौधरी अजय कुमार ताँती, रंजीत कुमार (दिव्यांग प्रखण्ड अध्यक्ष जमुई), शंभू सिंह (दिव्यांग प्रखण्ड अध्यक्ष खैरा), ने इस चलंत न्यायालय में अहम भूमिका निभाई.

प्रभाकर मिश्रा(जमुई).