दुनिया की सबसे कम उम्र की प्रधानमंत्री फिनलैंड की सना मरीन बनीं…

दुनिया की सबसे कम उम्र की प्रधानमंत्री फिनलैंड की सना मरीन बनीं…

81
0
SHARE
फिनलैंड की सबसे कम उम्र की प्रधानमंत्री सना मरीन बनी. :फोटो :- गूगल.

रविवार को फिनलैंड की सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी प्रधानमंत्री पद के लिये 34 वर्षीय पूर्व परिवहन मंत्री सना मरीन को. इसी के साथ मरीन देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे कम उम्र की प्रधानमंत्री बन गई. रविवार को हुये चुनाव में चुनाव जीतकर निवर्तमान नेता एंटी रिने का स्थान लिया है. बताते चलें कि, निवर्तमान नेता एंटी रिने ने डाक हड़ताल से निपटने को लेकर गठबंधन सहयोगी सेंटर पार्टी का विश्वास खोने बाद मंगलवार को इस्तीफा डे दिया था.

सना मरीन का जन्म फिनलैंड की राजधानी हेलसिंकी में हुआ और उनकी शिक्षा-दीक्षा टंपेरे शहर में हुई. उन्होंने देश की प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी ऑफ टंपेरे से ऐडमिनिस्ट्रेटिव साइंस में बैचलर की डिग्री हासिल की है. वर्ष 2012 में उन्होंने टंपेरे शहर सिटी काउंसिल का चुनाव जीता. वो 2013-17 तक शहर के सिटी काउंसिल की चेयरपर्सन भी रहीं. वर्ष 2017 में उन्होंने सिटी काउंसिल का चुनाव एक बार फिर जीता. मरीन टंपेरे क्षेत्र असेंबली ऑफ काउंसिल की भी सदस्य हैं.

बताते चलें कि, फिनलैंड में गठबंधन सरकार का चलन है और वहां कुछ बड़ी पार्टियां मिलकर सरकार बनाती हैं. फिनलैंड में इकलौती कोई पार्टी सरकार नहीं बनाती है. जिस प्रकार अपने देश का मुखिया राष्ट्रपति होता है उसी प्रकार फिनलैंड में प्रधानमंत्री ही सरकार का मुखिया होता है.

फिनलैंड का इतिहास :-  

आधिकारिक तौर पर फ़िनलैंड गणराज्य उत्तरी यूरोप के फेनोस्केनेडियन क्षेत्र में स्थित एक नॉर्डिक देश है। इसकी सीमा पश्चिम में स्वीडन, पूर्व में रूस और उत्तर में नॉर्वे स्थित है, जबकि फिनलैंड खाड़ी के पार दक्षिण में एस्टोनिया स्थित है। देश की राजधानी हेलसिंकी है.क्षेत्रफल के हिसाब से यह यूरोप का आठवां सबसे बड़ा और जनघनत्व के आधार पर यूरोपीय संघ में सबसे कम आबादी वाला देश हैं.

फिनलैंड ऐतिहासिक रूप से स्वीडन का एक हिस्सा था और 1809  से रूसी साम्राज्य के अंतर्गत एक स्वायत्त ग्रैंड डची था. रूस से गृहयुद्ध के बाद 1917  में फ़िनलैंड ने स्वतंत्रता की घोषणा की. फिनलैंड 1955 में संयुक्त राष्ट्र संघ में, 1969 में ओईसीडी और 1995  में यूरोपीय संघ और यूरोजोन में शामिल हुआ. एक सर्वेक्षण में सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक और सैन्य संकेतकों के आधार पर फिनलैंड को दुनिया का दूसरा सबसे अधिक स्थिर देश करार दिया गया है.

बताते चलें कि, दुनिया की पहली महिला प्रधानमंत्री वर्ष 1960 में श्रीलंका की सिरिमावो बांदरनायके बनी थी. उसके बाद कई देशों में महिला नेत्रियों ने अपने अपनी पार्टी का प्रतिनिधित्व किया. भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री स्व० श्रीमती इंदिरा गांधी (वर्ष 1966), पकिस्तान की महिला प्रधानमंत्री स्व० बेनज़ीर भुट्टो (वर्ष 1988), बांग्लादेश की महिला प्रधानमंत्री शेख हसीना (वर्ष 1996), ब्रिटेन की पहली महिला प्रधानमंत्री मार्गरेट थैचर (वर्ष 1979) और न्यूजीलैंड की महिला प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न (वर्ष 2017).