अर्थशास्त्र से संबंधित(24)…

अर्थशास्त्र से संबंधित(24)…

27
0
SHARE
pix by google.

Q:- What is a tax called? Write the main objectives of taxation.

Tax is a compulsory contribution paid by the citizens of the country to the state, for the use of which no person is assured of assured service or benefit.”

Tax is a compulsory payment that an individual makes to meet the expenditure incurred by the government on welfare works. Tax is the most important means of public income. Most of the total income in India is derived through taxes.

Objects of taxation: –

  • Development of economy: – The government invests the income from taxes in the development work of the country. Such as production, road construction, rail, electricity, communication etc.
  • Receiving income: – Tax provides significant income to both the states and the central government, which is used for the economic development of the country and the welfare of the society.
  • Increase in national and per capita income: – The government tries to increase national income and per capita income by putting income derived from taxes in the development works of the country. Increasing the level of savings and appropriation and increasing the rate of economic development leads to an increase in national and per capita income.
  • Reducing economic disparities: – Through taxation, governments levy more tax on the people of higher income group of the country and less tax on the lower income group. And spend the income from taxes on the welfare of poor people.
  • Control over inflation: – Through taxation, the government controls inflation and also tries to reduce the prices of essential commodities.

=================================== ===

प्र0 :-  कर किसे कहते है? करारोपण के मुख्य उददे्श्य लिखिए.

“कर देश के नागरिकों द्वारा राज्य को प्रदत्त एक अनिवार्य अंशदान है जिसके प्रयोग के लिए किसी भी व्यक्ति को निशिचत सेवा या लाभ का आश्वासन नहीं दिया जाता.”

कर एक अनिवार्य भुगतान है जो कि व्यक्ति सरकार द्वारा कल्याण कार्यो पर किए गए व्यय को पूरा करने के लिए करता है. कर सार्वजनिक आय का सबसे महत्त्वपूर्ण साधन है. भारत में कुल आय का अधिकांश भाग करों द्वारा ही प्राप्त होता है.

करारोपण के उददे्श्य :-  

  • अर्थव्यवस्था का विकास :- करों से प्राप्त आय का सरकार देश के विकास कार्यो में लगाती है। जैसे उत्पादन, सड़क निमार्ण, रेल, बिजली, संचार आदि.
  • आय प्राप्त करना :- कर राज्यों तथा केन्द्र सरकार दोनों को महत्वपूर्ण आय प्रदान करती है जिसका प्रयोग वे देश के आर्थिक विकास के साथ समाज के कल्याण के कार्यकिया जाता है.
  • राष्ट्रीय तथा प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि करना :- करों से प्राप्त आय को सरकार देश के विकास कार्यो में लगा कर राष्ट्रीय आय तथा प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि करने का प्रयास करते है. बचत एवं विनियोग के स्तर को बढ़ाने तथा आर्थिक विकास की दर में वृद्धि से राष्ट्रीय तथा प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि होती है
  • आर्थिक असमानताओं को कम करना :- करारोपण के माध्यम से सरकारों देश के अधिक आय वाले वर्ग के लोगों पर अधिक कर तथा कम आय वाले वर्ग पर कम कर लगाते है. और करों से प्राप्त आय को निर्धन लोगों के कल्याण पर खर्च करते है.
  • मुद्रा-स्फीति पर नियन्त्रण :- करारोपण द्वारा सरकार मुद्रा स्फीति को नियन्त्रित करती है और आवश्यक वस्तुओं के दामों को कम करने का भी प्रयास करती है.