अर्थशास्त्र से संबंधित(20)…

अर्थशास्त्र से संबंधित(20)…

10
0
SHARE
pix by google.

Q: – What is a currency called. What are the major currency defects?

Definition :- According to the NAP, any item which is declared a currency by the state is called Mudra.

Major drawbacks of currency …

  1. Class struggle = Due to uneven distribution of wealth through currency, two classes have been formed in the society. The rich class and the poor class, in which there is mutual conflict.
  2. Inequality in distribution of income and wealth = Due to currency, there has been a concentration of economic resources, due to which the disparities in the distribution of income and wealth have increased in the society.
  3. Volatility in the value of money = instability due to business cycle (inflation and recession).
  4. Increase in credit problems = Due to habit of taking loan from the currency, people’s expenditure in the society has increased. Due to which the prices of goods and services have increased. Many farmers are committing suicide today due to non-repayment of loans due to indebtedness.
  5. Business cycle = It is only through currency that trade cycles come in the whole world. Due to which the economic condition of the country is affected.

Note:- According to Keynes = Business cycles arise due to the imbalance of savings and appropriation.

========================================

प्र0 :- मुद्रा किसे कहते है. मुद्रा के प्रमुख दोष कौन-कौन से हैं?

परिभाषा :- नैप के अनुसार कोई भी वस्तु जो राज्य के द्वारा मुद्रा घोषित कर दी जाती है, वो मुद्रा कहलाती है.

मुद्रा के प्रमुख दोष…

1.वर्ग संघर्ष = मुद्रा के द्वारा धन के असमान वितरण के कारण समाज में दो वर्ग बन गये है। संपन्न वर्ग और निर्धन वर्ग, जिसमें परस्पर संघर्ष होता रहता है.

2.य व धन के वितरण में विषमता = मुद्रा के कारण आर्थिक साधनों का संकेन्द्रकरण हुआ है, जिससे समाज में आय व धन के वितरण की विषमताएँ बढ़ी है.

3.मुद्रा के मूल्य में अस्थिरता = व्यापार चक्र (मुद्रा स्फीति तथा मंदी) के कारण अस्थिरता बनी रहती है.

4.ऋणग्रस्तता में वृद्वि = मुद्रा से ऋण लेने की आदत के कारण समाज में लोगों का खर्च बढ़ गया है. जिससे वस्तुओं तथा सेवाओं की कीमतों में वृद्वि हुई है. ऋणग्रस्तता के कारण लोन न चुकाने के कारण बहुत से किसान आज आत्महत्या कर रहे है.

5.व्यापार चक्र = मुद्रा के द्वारा ही पुरे विश्व में व्यापार चक्र आते है. जिससे किसे भी देश की आर्थिक दशा प्रभावित होती है.

नोट:- कीन्स के अनुसार = व्यापार चक्र बचत तथा विनियोग के असन्तुलन के कारण उत्पन्न होते है.