अम्ल क्या है ?

अम्ल क्या है ?

17478
0
SHARE
भोजन में तरह तरह का स्वाद उसमें acid, salt, या base की उपस्थिति के कारण होता है.

किसी भी भोजन का स्वाद हमारे जिंदगी को भी मनोनुकूल बना देता है. सभी प्रकार के भोजन में कोई न कोई टेस्ट अवश्य होता है. ये स्वाद या तो खट्टे, मीठे, नमकीन या चटकीले  होते हैं. भोजन में खट्टेपन का स्वाद उसमें एसिड (acid) की उपस्थिति के कारण होता है, जबकि भोजन का नमकीन स्वाद उसमें उपस्थित साल्ट salt) के कारण होता है.जबकि कोल्डड्रिंक का स्वाद उसमें उपस्थित बेस(Base) के कारण होता है. अर्थात, भोजन में तरह तरह का स्वाद उसमें acid, salt, या base की उपस्थिति के कारण होता है.

Acids (अम्ल):- एसिड का स्वाद खट्टा (sour) होता है. इसी कारण भोजन या फल का स्वाद खट्टा होने का कारण उसमें एसिड्स (acids) की मौजूदगी के कारण होता है.

उदाहरण:- Lemon (नींबु), curd (दही), tamarind (ईमली), unripe fruits (कच्चे फल) आदि कुछ सामान्य भोज्य पदार्थ हैं, जो प्राय: रोज घरों में उपयोग किये जाते हैं. इन सभी का स्वाद खट्टा होता है क्योंकि इन सभी में acid (अम्ल) पाये जाते हैं.रासायनिक पदार्थ जिन्हें उनके खट्टे स्वाद के कारण पहचाना जा सकता है, अम्ल (ACID) कहलाते हैं.

Types of Acids (अम्ल के प्रकार):- श्रोत के आधार पर Acid को दो ग्रुप में बांटा जा सकता है, नेचुरल एसिड(Natural acid) तथा मिनरल एसिड (Mineral acid).

नेचुरल या आर्गेनिक एसिड(Natural or Organic Acid):- एसिड्स(Acids) जिनके  प्राकृतिक श्रोत से प्राप्त किया जाता है, उसे नेचुरल एसिड कहते हैं. जैसे, सिट्रिक एसिड(Citric acid), एसिटिक एसिड(acetic acid), लैक्टिक एसिड (lactic acid), टैत्रिक एसिड (tartaric acid), ओक्सालिक एसिड (oxalic acid), फोरमिक एसिड (formic acid) इत्यादि.

प्राकृतिक अम्ल के श्रोत (Sources of some Natural Acids)

Citric acid (साइट्रिक एसिड):- lemon, orange, तथा प्राय: सभी खट्टे फलों में पाया जाता है.

Acetic acid (एसेटिक एसिड):- Vinegar में पाया जाता है.

Tartaric acid (टारटेरिक एसिड):- ईमली (Tamarind) में पाया जाता है.

Oxalic acid (ऑक्जेलिक एसिड):- Tomato (टमाटर) में पाया जाता है.

Lactic acid (लैक्टिक एसिड):- दूध, दही आदि में पाया जाता है.

Formic acid (फ़ॉर्मिक एसिड):- चींटियों के डंक, Nettle नामक पौधों के रोएं या काँटों (Nettle sting) में पाया जाता है.

Ascorbic acid (एसक़ॉर्बिक एसिड):- अमरूद, आँवला आदि में पाया जाता है.

मिनरल या सिंथेटिक एसिड(Mineral or Synthetic Acids):-

अम्ल (Acid) जिन्हें खनिजों (minerals) से तैयार किया जाता है को Mineral Acid (खनिज अम्ल) या ऑरगेनिक अम्ल कहते हैं.

उदाहरन:- Hydrochloric acid, Sulphuric acid तथा Nitric acid (नाइट्रिक एसिड) mineral acids के कुछ कॉमन उदाहरण हैं.

चूँकि mineral acids को प्रयोगशाला में तैयार किया जाता है इसलिये इन्हें man-made या synthetic acids या inorganic acid भी कहते हैं.

स्ट्रोंग एसिड(Strong acids):- सभी mineral acids केवल carbonic acid को छोडकर, strong acid होते हैं, जैसे सल्फ्यूरिक एसिड, हाइड्रोक्लोरिक एसिड, नाइट्रिक एसिड, फॉस्फोरिक एसिड.      

कमजोर एसिड(Weak acids):- सभी आर्गेनिक एसिड(organic acid) अर्थात प्राकृतिक श्रोतों से प्राप्त एसिड कमजोर एसिड(weak acid) होते हैं. जैसे टैटरिक एसिड, ऑक्सेलिक एसिड, एसिटिक एसिड, एसिटिक एसिड.

सान्द्र तथा तनु अम्ल (Concentrated and Dilute Acid):- 

Concentrated Acid (सान्द्र अम्ल):- जलीय घोल, जिसमें अम्ल के घटक का आयतन सर्वाधिक हो तथा और अम्ल नहीं घुल सके, उसे सान्द्र अम्ल (Concentrated Acid) कहते हैं.

सान्द्रता (Concentration):- घटक की मात्रा भागा कुल मिश्रण का आयतन. एसिड की सान्द्रता (Concentration) जलीय घोल में acid के घटक (Constituents) का आयतन घटने के साथ घटती है तथा acid के घटक (Constituents) का आयतन बढने के साथ घटती है.

तनु अम्ल(Dilute Acid):- जलीय घोल जिसमें अम्ल के घटक का आयतन सर्वाधिक नहीं हो तथा और अम्ल घुल सके, उसको जलमिश्रत अम्ल(Concentrated Acid) कहते हैं. Acid का dilution  घोलक के आयतन बढने के साथ साथ बढती है तथा घोलक के आयतन घटने के साथ साथ घटती है.