विश्वविद्यालय-अधिकारियों के क्रियाकलापों की समीक्षा होगी:- राज्यपाल लाल जी टंडन

विश्वविद्यालय-अधिकारियों के क्रियाकलापों की समीक्षा होगी:- राज्यपाल लाल जी टंडन

7
0
SHARE
विश्वविद्यालयों में शोध-गतिविधियों को गुणवत्तापूर्ण बनाया जा रहा है. फोटो:-आईपीआरडी, पटना.

ज्ञात है कि, जनवरी महीने की 08, 09, 11 एवं 17 तारीखों को वित्त परामर्शियों व वित्त पदाधिकारियों, महाविद्यालय निरीक्षकों, कुलसचिवों तथा प्रतिकुलपतियों की समीक्षा बैठकें निर्धारित हैं, जिनमें अधिकारियों के क्रिया-कलापों की व्यापक समीक्षा की जाएगी.

राज्यपाल सह कुलाधिपति लाल जी टंडन ने विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा के विकास-कार्यों की समीक्षा के लिए जनवरी माह में आयोजित होनेवाली विश्वविद्यालयीय अधिकारियों की बैठक के लिए समीक्षा के विन्दुओं को स्पष्ट रूप से निर्धारित करते हुए अधिकारियों के कार्यों की गहन समीक्षा का निर्देश प्रधान सचिव सचिव विवेक कुमार सिंह को दिया है.

08 जनवरी, 2019 को होनेवाली वित्तीय सलाहकार एवं वित्त अधिकारियों की समीक्षा-बैठक राज्यपाल सह कुलाधिपति टंडन के निर्देशानुसार नवनियुक्त गेस्ट फेकेल्टिज (Guest Faculties) के मानदेय-भुगतान हेतु अपेक्षित राशि से संबंधित प्रतिवेदन पर भी विचार किया जाएगा. वित्त सलाहकारों एवं वित्त अधिकारियों की इस समीक्षा-बैठक में ही NAAC Accreditation की तैयारी के लिए अपेक्षित धन-राशि संबंधी प्रतिवेदन की भी समीक्षा होगी. इस बैठक में निरीक्षण के दौरान महाविद्यालयों में पायी गई अनियमितताओं के निराकरण या उनके विरूद्ध कृत कार्रवाइयों की भी समीक्षा होगी. इस बैठक में राज्यपाल टंडन के निर्देशानुसार आयोजित पेंशन अदालतों के जरिये निष्पादित सेवान्त लाभ के मामलों की भी समीक्षा की जायेगी. ज्ञात है कि, राज्यपाल टंडन ने सभी कुलपतियों को विगत बैठक में यह आदेश दिया था कि, सेवान्त लाभ के मामलों में त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित होनी चाहिए. बैठक में GeM के जरिये खरीददारी विषयक प्रतिवेदन पर भी व्यापक रूप से समीक्षा होगी. विश्वविद्यालय के शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों के वेतन-सत्यापनादि के मामलों की समीक्षा के साथ-साथ, बैठक में RTGS के जरिये वेतन-भुगतान पर भी गहनता से विचार होगा. ज्ञात है कि, राज्यपाल टंडन ने हर तरह के भुगतान को डिजिटल (Digital) रूप में ही सुनिश्चित करने का आदेश दिया है, जिसे हर हालत में सुनिश्चित कराया जाना है.

09 जनवरी 2019 को आयोजित होनेवाली महाविद्यालय-निरीक्षकों की बैठक में प्रमुख रूप से बी॰एड॰ कॉलेज से जुड़े विभिन्न मुद्दों की समीक्षा होगी. इस बैठक में बी॰एड॰ कॉलेजों द्वारा फोटोग्राफ अपलोडिंग की समीक्षा होगी, साथ ही बी॰एड॰ कॉलेज के निरीक्षण के प्रस्तावित कैलेण्डर पर भी विचार होगा. इस बैठक में महाविद्यालय द्वारा‘नैक प्रत्ययन’ के लिए की जा रही तैयारियों की वस्तुपरक समीक्षा की जाएगी.

ज्ञात है कि, इन बैठकों हेतु सभी प्रतिवेदन ऑन-लाइन ही माँगे गए हैं, जिनपर व्यापक परीक्षा होगी. कुलाधिपति सह राज्यपाल टंडनने विश्वविद्यालयों में वित्त अधिकारियों के लिए पात्रता-शर्त्तों के पुनः निर्धारण तथा उनके कार्यकाल-निर्धारण को लेकर आवश्यक मंत्रणा प्रदान करने के लिए तीन कुलपतियों की एक उच्चस्तरीय समिति गठित करने का आदेश दिया है. इस समिति में पटना विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो॰ रासबिहारी सिंह, ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा के कुलपति प्रो॰ एस॰के॰ सिंह तथा पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय, पटना के कुलपति प्रो॰ गुलाबचंद राम जायसवाल शामिल किये गये हैं. समिति के गठन से संबंधित अधिसूचना राज्यपाल सचिवालय ने जारी कर दी है. कुलपतियों की इस समिति से एक पखवारे के अंदर अनुशंसा-प्रतिवेदन की अपेक्षा की गई है.