वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली की…

वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली की…

83
0
SHARE
किसी भी स्थान विशेष पर वज्रपात होने की सूचना 30-45 मिनट पूर्व मोबाईल ऐप एवं एस०एम०एस० आदि के माध्यम से दी जायेगी. फोटो:-आईपीआरडी, पटना.

विगत वर्षो में राज्य में वज्रपात की घटनाओं एवं तीव्रता में वृद्धि हुई है, जिससे काफी संख्या में मानव क्षति हुई है. वर्ष 2016, 2017 एवं 2018 में राज्य में वज्रपात के कारण मृत व्यक्तियों की संख्या क्रमशः 107, 180 एवं 139 प्रतिवेदित है. वर्तमान वर्ष 2019 में भी अबतक कुल 172 व्यक्तियों की मृत्यु की सूचना प्राप्त हुई है, जिसमें मात्र एक दिन में (दिनांक:- 23-07-19 को) 39 व्यक्तियों की मृत्यु भी शामिल है.

वर्तमान समय में वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली की स्थापना आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिसा, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों में की गयी है. आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल एवं ओडिसा में इसकी स्थापना अर्थ नेटवर्क कम्पनी के साथ नामांकन के आधार पर किया गया है. बिहार राज्य में भी वज्रपात से होने वाले मृत्यु की दर में कमी लाने के लिए वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली के स्थापना हेतु बुधवार 14-08-2019 को आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा अर्थ नेटवर्क कम्पनी (Earth Networks, Inc) के साथ 04 वर्षो के लिए करार किया गया, जिसके तहत अर्थ नेटवर्क कम्पनी के द्वारा राज्य में वज्रपात पूर्व चेतावनी प्रणाली की स्थापना की जायेगी एवं किसी भी स्थान विशेष पर वज्रपात होने की सूचना 30 से 45 मिनट पूर्व दी जायेगी. प्राप्त पूर्व सूचना को प्रभावित होने वाले क्षेत्रों के लोगों तक मोबाईल ऐप एवं एस०एम०एस० आदि के माध्यम से पहुंचाया जायेगा. मोबाईल ऐप के माध्यम से लोगों तक सूचना प्रेषण हेतु कीहु सॉल्युसंन्स बेंगलुरू के साथ भी करार किया गया. साथ ही एस०एम०एस० के माध्यम से लोगों तक सूचना प्रेषण हेतु मोबाईल सर्विस प्रोवाइडर कम्पनियों के साथ अलग से वार्ता के उपरांत कार्रवाई की जायेगी.

आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से एम० रामचन्द्रुडु, अपर सचिव एवं अर्थ नेटवर्क कम्पनी (Earth Networks, Inc) की ओर से अरी डेवीडॉव निदेशक इंटरनेशनल बिजनेस के द्वारा करार पर हस्ताक्षर किया गया. मोबाईल ऐप की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु कीहु सॉल्युसंन्स बेंगलुरू के साथ भी करार किया गया, जिसपर कीहु सॉल्युसंन्स की ओर से भाष्करण रंगराजन, चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के द्वारा हस्ताक्षर किया गया. आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत द्वारा आशा व्यक्त किया गया है कि राज्य में वज्रपात आपदा पूर्व चेतावनी प्रणाली की स्थापना से निश्चित रूप से वज्रपात से होने वाली मानव क्षति को कम करने में सहायता मिलेगी.