राज्य में स्वास्थ्य-सुविधाओं के विकास हेतु केन्द्र एवं राज्य सरकार तत्पर :-...

राज्य में स्वास्थ्य-सुविधाओं के विकास हेतु केन्द्र एवं राज्य सरकार तत्पर :- राज्यपाल

18
0
SHARE
प्राइवेट अस्पतालों में गरीबों को कम शुल्क पर चिकित्सा-सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिए कोई सार्थक पहल होनी चाहिए. फोटो:-पीआरडी, पटना.

रविवार को महामहिम राज्यपाल फागू चौहान ने भोजपुर जिलान्तर्गत बखोरावाली काली मंदिर परिसर में आयोजित ‘20वें राष्ट्रीय मेगा हेल्थ कैम्प’ का मुख्य अतिथि के रूप में उद्घाटन करते हुए कहा कि, ‘‘स्वास्थ्य-सुविधाओं का राज्य में तेजी से विकास हो रहा है. केन्द्र एवं राज्य सरकार दोनों स्वास्थ्य-सुविधाओं के विकास में तत्पर हैं. भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने ‘आयुष्मान भारत योजना’ को देश में लागू कर आम गरीबों तक बेहतर चिकित्सा-सुविधाएँ मुहैय्या करा देने का अभूतपूर्व कार्य किया है. इस योजना की बदौलत अनेक असाध्य बीमारियों से गरीबों की रक्षा हो रही है. राज्य सरकार भी बेहतर स्वास्थ्य-सुविधाएँ उपलब्ध कराने की दिशा में गंभीरता से कार्य कर रही है.’’

राज्यपाल चौहान ने कहा कि, अनेक प्राइवेट अस्पताल पूरे राज्य में भी चल रहे हैं. महामहिम ने सुझाया कि प्राइवेट अस्पतालों में गरीबों को कम शुल्क पर चिकित्सा-सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिए कोई सार्थक पहल होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि, रेडक्रॉस सोसाइटी तथा अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से भी सुदूरवर्ती देहाती क्षेत्रों में ‘चिकित्सा शिविरों’ का आयोजन कराते हुए विशेषकर गरीब वर्ग तक स्वास्थ्य-सुविधाओं को पहुँचाना हम सबका नैतिक दायित्व है. राज्यपाल चौहान ने कहा कि, स्वास्थ्य-शिविरों के आयोजन में विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय के एन०सी०सी० एवं एन०एस०एस० के विद्यार्थियों की भी सेवा ली जानी चाहिए,  ताकि समाज-सेवा की भावना हमारे देश के युवाओं में शुरू से ही विकसित हो सके.

राज्यपाल चौहान ने कहा कि, हमारे धर्मग्रंथों की यह मान्यता है कि शरीर ही वह साधन है जिसके माध्यम से धर्म-साधना भी हो सकती है. धर्म-साधना और कर्म-साधना दोनों के लिए शरीर का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है. स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन और मस्तिष्क का निवास रहता है. स्वस्थ दिल और दिमाग से ही जब हम किसी काम में लगते हैं तब उसकी सफलता निश्चित रहती है. उन्होंने कहा कि, ‘‘एक तन्दुरूस्ती, हजार नियामतें’’ -की कहावत विख्यात है. आदमी के पास अगर केवल एक तन्दुरूस्ती रहे, तो वह हजार संकटों का मुकाबला कर सकता है, अनेक दुश्वारियों को झेल सकता है. राज्यपाल चौहान ने कहा कि, आज जो ‘मेगा हेल्थ कैम्प’ लगाया गया है उसका उद्देश्य उत्कृष्ट स्वास्थ्य और चिकित्सा सुविधाओं को आप तक सहज रूप में पहुँचाना है.

कार्यक्रम के पूर्व महामहिम राज्यपाल फागू चौहान ने बखोरावाली माँ काली एवं नवनिर्मित शिव मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना भी की एवं बिहारवासियों व देशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना की.