मुख्यमंत्री की उपस्थिति में पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिंक एवं दिल्ली मेट्रो...

मुख्यमंत्री की उपस्थिति में पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिंक एवं दिल्ली मेट्रो कॉरपोरेशन के बीच एकरारनामा संपन्न…

42
0
SHARE
इस परियोजना के द्वारा पटना वासियों एवं आगन्तकों को दु्रत, विश्वसनीय, सुरक्षित एवं आरामदायक यातायात का माध्यम प्राप्त होगा जो सिमलेस मोबिलिटी सुनिश्चित करेगा. फोटो:-पीआरडी, पटना.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, नगर विकास एवं आवास विभाग, बिहार सुरेश कुमार शर्मा, मुख्य सचिव, बिहार दीपक कुमार, विकास आयुक्त, बिहार अरूण कुमार सिंह, प्रबंध निदेशक, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन, मंगू सिंह एवं सहयोगी पदाधिकारीगण एस०डी० शर्मा, निदेशक (व्यापार विकास), दलजीत सिंह, निदेशक (कार्य) एवं पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लि० के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक, चैतन्य प्रसाद एवं सहयोगी पदाधिकारीगण संजय कुमार, मुख्य वित्त पदाधिकारी, संजय दयाल, मुख्य महाप्रबंधक (तकनीकी) की उपस्थिति में दिनांक 25 सितम्बर, 2019 को पटना मेट्रो रेल परियोजना के डिपोजिट टर्म पर कार्यान्वयन का एकरारनामा पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लि० एवं दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के बीच पटना में सम्पन्न हुआ.

पटना मेट्रो रेल परियोजना की स्वीकृति अनुमानित लागत रु० 13365.77 करोड़ पर कुल 31.39  कि०मी० के लिए प्रदान की गई है. इस परियोजना में पूर्वी-पश्चिमी कोरिडोर (16.94 कि०मी०) एवं उत्तरी-दक्षिणी कोरिडोर (14.45 कि०मी०) है. पूर्वी-पश्चिमी कोरिडोर में 03 एलिवेटेड स्टेशन, 08 अन्डर ग्राउन्ड स्टेशन तथा 01 एट ग्रेड स्टेशन शामिल हैं तथा उत्तरी -दक्षिणी कोरिडोर में 09 एलिवेटेड स्टेशन एवं 03 अन्डर ग्राउन्ड स्टेशन शामिल हैं.

पटना मेट्रो रेल परियोजना का कार्यान्वयन डिपोजिट टर्म पर नोमिनेशन के आधार पर दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से कराने की स्वीकृति राज्य मंत्रिपरिषद् की दिनांक 03 सितम्बर, 2019 की बैठक में प्रदान की गई है. मेट्रो रेल परियोजना के कार्यान्वयन के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन देश की सबसे पुरानी एवं सबसे विश्वसनीय कॉरपोरेशन है. इस संस्था के पास स्थायी तकनीकी मानव बल उपलब्ध है जिसे देश के कई शहरों (नई दिल्ली, नोएडा, जयपुर, कोच्चि एवं मुम्बई) तथा विदेश (बंगलादेश) में मेट्रो रेल परियोजनाओं के कार्यान्वयन का वृहद् अनुभव प्राप्त है. इन्हें मेट्रो रेल परियोजना को गुणवत्ता एवं सुरक्षा के साथा निर्धारित समय से पूर्व ही पूर्ण करने का गौरव प्राप्त है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को अंडरग्राउन्ड, एट ग्रेड एवं एलिवेटेड मेट्रो एलाइनमेंट की विशेषज्ञता हासिल है तथा निर्माण कार्य अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार किया जाता है.

पटना मेट्रो रेल की सम्पूर्ण परियोजना के कार्यान्वयन हेतु दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को देय शुल्क की राशि रु० 428.87 करोड़ है. परियोजना कार्यान्वयन का कार्य दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा अबतक देश एवं विदेश में किए गए कार्यों से कम दर पर किया जा रहा है. परियोजना का कार्य विभिन्न चरणों में किया जाएगा जिसके अंतिम चरण का कार्य सितम्बर, 2024 में पूर्ण हो जाएगा.

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा पटना में परियोजना निदेशक के नेतृत्व में एक पूर्ण परियोजना कार्यालय की स्थापना की जाएगी जिसमें परियोजना के कार्यान्वयन हेतु आवश्यक संख्या में अभियंताओं एवं अन्य पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की जाएगी. परियोजना निदेशक को निरूपण, निविदा के निष्पादन एवं अन्य तकनीकी विषयों पर दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के नई दिल्ली स्थित कारपोरेट कार्यालय का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा.

बिहार सरकार, मुख्य सचिव की अध्यक्षता में परियोजना के अनुश्रवण हेतु एक प्राधिकृत समिति एवं विभिन्न समस्याओं से निपटने के लिए पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन स्तर पर एक समीक्षा प्रणाली का गठन कर सकती है. पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन परियोजना के सुरक्षा एवं गुणवत्ता के अनुश्रवण हेतु एक स्वतंत्र अनुश्रवण तंत्र का गठन कर सकती है जो परियोजना के गुणवत्ता एवं सुरक्षा मानकों को अनुश्रवण करेगी.

इस परियोजना के द्वारा पटना वासियों एवं आगन्तकों को दु्रत, विश्वसनीय, सुरक्षित एवं आरामदायक यातायात का माध्यम प्राप्त होगा जो सिमलेस मोबिलिटी सुनिश्चित करेगा.

यह पर्यावरण पोशक परियोजना होगी जिसमें मेट्रो स्टेशन एवं डिपो को हरित भवन के रूप में योजनाबद्ध कर सौर पैनल से पूरी तरह आच्छादित किया जाएगा. यह सर्वोच्च उपयोगी हरित यातायात का माध्यम होगा जो शहर के सघन क्षेत्रों में यातायात को सुगम बनायेगा. यह परियोजना ट्रान्जिट ओरियेंटेड उन्नयन सुनिश्चित करेगा एवं शहरों के बाहरी इलाकों के विकास में वृद्धि लायेगा. इस परियोजना के कार्यान्वयन एवं संचालन से समुचित रोजगार का सृजन होगा.