देश-दुनिया में 28 मई का इतिहास…

देश-दुनिया में 28 मई का इतिहास…

583
0
SHARE
इंडियन सोशियोलाजिस्ट और तलवार नामक पत्रिकाओं में उनके अनेक लेख प्रकाशित हुये, जो बाद में कलकत्ता के युगान्तर पत्र में भी छपे..फोटो:-गूगल.
  • वर्ष 1883 में भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के अग्रिम पंक्ति के सेनानी और प्रखर राष्ट्रवादी नेता विनायक दामोदर सावरकर का जन्म नासिक के निकट भागुर गाँव में हुआ था.उनकी माता जी का नाम राधाबाई तथा पिता जी का नाम दामोदर पन्त सावरकर था. नौ वर्ष की उम्र में उनकी माता का देहांत हो गया सात सालों बाद पिता की भी मृत्यु हो गई.विनायक के बड़े भाई गणेश ने परिवार के पालन-पोषण का कार्य सँभाला लेकिन, दुःख और कठिनाई की इस घड़ी में गणेश के व्यक्तित्व का विनायक पर गहरा प्रभाव पड़ा. विनायक ने शिवाजी हाईस्कूल नासिक से वर्ष 1901 में मैट्रिक की परीक्षा पास की. पढाई के दौरान विनायक नवयुवको को संगठित कर मित्र मेलों का आयोजन करते जिससे नवयुवकों में राष्ट्रीयता की भावना के साथ क्रान्ति की ज्वाला जाग उठी. इसी दौरान उनकी शादी हो गई और उनके श्वसुर ने आगे की पढाई का जिम्मा लिया. उसके बाद उन्होने पुणे के फर्ग्युसन कालेज से बी०ए० किया. वर्ष 1904 में उन्हॊंने अभिनव भारत नामक एक क्रान्तिकारी संगठन की स्थापना की. वर्ष 1905 में बंगाल के विभाजन के बाद उन्होने पुणे में विदेशी वस्त्रों की होली जलाई।पढाई के दौरान पुणे में भी वे राष्ट्रभक्ति से ओत-प्रोत ओजस्वी भाषण देते थे। बाल गंगाधर तिलक के अनुमोदन पर वर्ष 1906 में उन्हें श्यामजी कृष्ण वर्मा छात्रवृत्ति मिली. सावरकर रूसी क्रान्तिकारियों से ज्यादा प्रभावित थे. इंडियन सोशियोलाजिस्ट और तलवार नामक पत्रिकाओं में उनके अनेक लेख प्रकाशित हुये, जो बाद में कलकत्ता के युगान्तर पत्र में भी छपे. वर्ष 1907 को इन्होंने इंडिया हाउस, लन्दन में प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की स्वर्ण जयन्ती मनाई. इस अवसर पर विनायक सावरकर ने अपने ओजस्वी भाषण में प्रमाणों सहित 1857 के संग्राम को गदर नहीं, अपितु भारत के स्वतंत्रता का प्रथम संग्राम सिद्ध किया. वर्ष 1908 में इनकी पुस्तक द इण्डियन वार ऑफ इण्डिपेण्डेंस : 1857  तैयार हो गयी थी.  लेकिन, इसके मुद्रण की समस्या आयी. काफी कोशिशों के बाद हॉलैंड से प्रकाशित हुई और इसकी प्रतियाँ फ्रांस पहुँचायी गयीं. वर्ष 1909 में इन्होंने लन्दन से बार एट ला (वकालत) की परीक्षा उत्तीर्ण की लेकिन, वकालत की अनुमति नहीं मिली.
  • वर्ष 1908 में अंग्रेजी लेखक, पत्रकार और नौसेना के खुफिया अधिकारी थे, जो जासूसी उपन्यासों के अपने जेम्स बॉन्ड श्रृंखला के लिए सबसे ज्यादा जाने वाले इयान फ्लेमिंग है और उनका जन्म धनी, लंदन जिले के 27 ग्रीन स्ट्रीट में हुआ था. उनके पिता वेलेंटाइन फ्लेमिंग(जो हेनली के लिए संसद के सदस्य थे) और उनकी माँ का नाम एवलिन ( नी रोज) था. फ्लेमिंग मर्चेंट बैंक रॉबर्ट फ्लेमिंग एंड कंपनी से जुड़े एक धनी परिवार से आए थे, और उनके पिता 1910 में हेनले के लिए 1917 में पश्चिमी मोर्चे पर उनकी मृत्यु तक संसद सदस्य थे. उन्होंने ईटन , सैंडहर्स्ट और, संक्षेप में विश्वविद्यालयों में पढाई की.द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटेन के नौसेना इंटेलिजेंस डिवीजन के लिए काम करते हुए, फ्लेमिंग ऑपरेशन गोल्डनई की योजना बनाने और दो खुफिया इकाइयों, 30 असॉल्ट यूनिट और टी-फोर्स के नियोजन और निरीक्षण में शामिल थे.फ्लेमिंग ने वर्ष 1952 में अपना पहला बॉन्ड उपन्यास कसीनो रोयाल लिखा था. वर्ष 1953-66 के बीच में उनकी दो लघु कथाओं के दो संग्रह लिखे. फ्लेमिंग के उपन्यास गुप्त खुफिया सेवा के एक अधिकारी जेम्स बॉन्ड के इर्द-गिर्द घूमते हैं, जिसे आमतौर पर एमआई 6 के रूप में जाना जाता है। काल्पनिक पुस्तकों की सबसे अधिक बिकने वाली श्रृंखला में शुमार हैं फ्लेमिंग को द टाइम्स ने वर्ष 2008 में वर्ष 1945 के बाद से 50 सबसे बड़े ब्रिटिश लेखकों ” की सूची में 14वें स्थान पर रखा था.
  • वर्ष 1921 में प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक डी० वी० पलुस्कर का जन्म नासिक,(महाराष्ट्र) में एक विख्यात हिंदुस्तानी संगीतकार विष्णु दिगंबर पलुस्कर के यहाँ हुआ था. 10 वर्ष की उम्र में उनके पिता का देहांत हुआ था. उसके बाद उन्हें पंडित विनायकराव पटवर्धन और पंडित नारायणराव व्यास ने प्रशिक्षित किया साथ ही उन्हें उन्हें पंडित चिंतामनराव और पंडित मिराशी बुवा ने भी प्रशिक्षण दिया. डी० वी० पलुस्कर ने अपना पहला कार्यक्रम 14 वर्ष की आयु में पंजाब में हरिवल्लभ संगीत सम्मेलन में दिया. उनकी आवाज़ बहुत मधुर और सुरीली थी और उनके आलाप उनके गाये राग का स्पष्ट रेखांकन करते थे. इसके बाद उनकी सहज शैली की तानों से सुसज्जित बंदिशें आती थीं. उनकी पहली डिस्क वर्ष 1944 में बनी और उन्होंने वर्ष 1955 में भारतीय सांस्कृतिक प्रतिनिधिमंडल के सदस्य के रूप में चीन का दौरा किया. उन्हें फिल्म बैजू बावरा में उस्ताद अमीर ख़ान के साथ एक अविस्मरणीय युगलबंदी के लिए भी जाना जाता है.
  • वर्ष 1954 में स्वतंत्रता सेनानी विजय सिंह पथिक का निधन हुआ था.
  • वर्ष 1959 में दो अमेरिकी बंदरों ने अन्तरिक्ष की सफल यात्रा की.
  • वर्ष 1961 में मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल की स्थापना हुई थी.
  • वर्ष 1964 में भारतीय सिनेमा इतिहास के निर्माता-निर्देशक महबूब ख़ान का निधन हुआ था.
  • वर्ष 1974 में पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी मिस्बाह-उल-हक़ का जन्म मिंयावाली (पंजाब ,पाकिस्तान) में हुआ था.मिस्बाह जन्म से ही क्रिकेट प्रेमी रहे हैं इस कारण टेप बॉल से हमेशा घर पर खेलते रहते थे लेकिन माता पिता चाहते थे कि वो अच्छी शिक्षा ग्रहण करें ,बजाय खेलकूद के. विद्यालयी शिक्षा के बाद मिस्बाह ने लाहौर ,पाकिस्तान में स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ़ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी में एमबीए (मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेटर) के लिए प्रवेश किया. मिस्बाह ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत 24 वर्ष की उम्र में वर्ष 1998 में की थी जबकि पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए इन्होंने पहला मैच वर्ष 2001 में खेला था.अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर की शुरुआत वर्ष 2001 में ही की थी. इसके बाद इनका चयन आईसीसी विश्व ट्वेन्टी-ट्वेन्टी विश्व कप 2007 में भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ ट्वेन्टी-ट्वेन्टी के फाइनल मैच की अंतिम गेंद पर पेडल स्वीप शॉट मारा था जिसे, तेज गेंदबाज श्रीसंत ने कैच किया और पकिस्तान हार गया था.
  • वर्ष 1996 में चेचेन्या को अधिकतम स्वायत्तता देने पर सहमत हुआ था रूस.
  • वर्ष 1998 में पाकिस्तान ने चगाई पहाड़ियों (बलूचिस्तान) पर 05 परमाणु परीक्षण किए, जिसके विरोध में अमेरिका ने पाकिस्तान के विरुद्ध आर्थिक प्रतिबंध लगाया था.
  • वर्ष 1999 में बेंजामिन नेतान्याहू के इस्तीफे के बाद, तुर्की में नयी गठबंधन की सरकार का गठन हुआ.
  • वर्ष 2000 में राष्ट्रपति के. आर. नारायणन(भारत) चीन के साथ द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने के लिए छह दिनों की राजकीय यात्रा पर पेइचिंग पहुँचे.
  • वर्ष 2002 में नेपाल में आपातकाल लगा.
  • वर्ष 2005 में प्रसिद्ध कवि, लेखक और साहित्यकार गोपाल प्रसाद व्यास का निधन दिल्ली में हुआ था.
  • वर्ष 2008 में राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में कार्यरत 05 न्यायाधीशों को स्थायी न्यायाधीश नियुक्त किया.
  • वर्ष 2008 में 240 सालों से चली आ रही राजशाही का अंत नेपाल में हुआ.
  • वर्ष 2008 में पाकिस्तान परस्त आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के चार नेताओं पर अमेरिका ने वित्तीय प्रतिबन्ध लगाया था.
  • वर्ष 2008 में जेट एयरवेज को ‘मध्य एशिया सर्वश्रेष्ठ चरगो एयर लाइन्स का पुरस्कार मिला.
  • वर्ष 2018 में नई दिल्ली में फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने टॉयलेट टेक्नॉलोजी को लोकप्रिय बनाने के अभियान का शुभारम्भ किया था.