देश-दुनिया में 23 मई का इतिहास…

देश-दुनिया में 23 मई का इतिहास…

280
0
SHARE
राजमाता महारानी गायत्री देवी की शिक्षा पहले शांतिनिकेतन उसके बाद लंदन और स्विट्ज़रलैंड में हुई थी. फोटो:-गूगल.
  • वर्ष 1805 में गवर्नर-जनरल लॉर्ड वेलेजली ने एक आदेश के अंतर्गत दिल्ली के मुग़ल बादशाह के लिए एक स्थायी प्रावधान की व्यवस्था की थी.
  • वर्ष 1895 में सितारेहिंद शिवप्रसाद का निधन हुआ था.
  • वर्ष 1915 में प्रथम विश्व युद्ध के समय इटली ने आस्ट्रिया, हंगरी और जर्मनी के ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा की थी.
  • वर्ष 1919 में जयपुर राजघराने की राजमाता महारानी गायत्री देवी का जन्म लंदन में हुआ था.राजकुमारी गायत्री देवी के पिता राजकुमार जितेन्द्र नारायण कूचबिहार (बंगाल) के युवराज के छोटे भाई थे, वहीं माता बड़ौदा की राजकुमारी इंदिरा राजे थीं.पहले शांतिनिकेतन, फिर लंदन और स्विट्ज़रलैंड में शिक्षा ग्रहण करने के पश्चात इनका इनका विवाह जयपुर के महाराजा सवाई मानसिंह (द्वितीय) से हुआ.वॉग पत्रिका द्वारा कभी दुनिया की दस सुंदर महिलाओं में गिनी गईं राजमाता गायत्री देवी राजनीति में भी सक्रिय थीं. वर्ष 1962 में चक्रवर्ती राजगोपालाचारी द्वारा स्थापित स्वतंत्र पार्टी की उम्मीदवार के रूप में जयपुर संसदीय क्षेत्र से समूचे देश में सर्वोच्च बहुमत से चुनाव में विजयी होने का गौरव प्राप्त किया. गायत्री देवी के राजनीतिक सफर में कष्ट भी सहना पड़ा,आपातकाल के दौरान वे दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद थीं.
  • वर्ष 1923 में राजस्थानी भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार अन्नाराम सुदामा का जन्म बीकानेर (राजस्थान) में हुआ था. उन्होंने एम.ए. तक शिक्षा ग्रहण की थी और पेशे से वो एक साधारण शिक्षक और प्रतिभा में असाधारण कथाकार थे. उनकी प्रसिद्ध उपन्यास आंधी और आस्था थी.सुदामा ने हिन्दी में अनेक उपन्यास लिखे. इनमें जगिया की वापसी, आंगन-नदियां, अजहुं दूरी अधूरी, अलाव तथा बाघ और बिल्लियां प्रमुख हैं.रूणिया बड़ा बास में इस बालक के जन्म के समय अच्छा जमाना हुआ तो अकाल से पीड़ित अन्न की किल्लत भुगत रहे परिजनों ने नाम अन्नाराम रख दिया जबकि स्कूल में गुरूजन की सुदामा के नाम की उपमा से बाद नाम के पीछे सुदामा जुड़ गया.
  • वर्ष 1930 में प्रसिद्ध भारतीय इतिहासकार तथा पुरातत्त्ववेत्ता राखालदास बंद्योपाध्याय का निधन हुआ था.
  • वर्ष 1945 में मलयालम भाषा के लेखक, पटकथा लेखक, फिल्म निर्माता और निर्देशक पद्मराजन का जन्म जन्म ओनट्टुकारा, एलेप्पी में हरीपाद के निकट मुथुकुलम में हुआ था. मुथुकुलम में प्रारंभिक स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद, उन्होंने एम.जी. कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी कॉलेज, तिरुवनंतपुरम में अध्ययन कर रसायन विज्ञान में स्नातक (1963) की उपाधि प्राप्त की. इसके बाद, उन्होंने विद्वान चेप्पाद अच्युत वारियर से मुथुकुलम में संस्कृत सीखा.इसके बाद उन्होंने आकाशवाणी त्रिचुर में काम किया.उनकी कहानियां छल, हत्या, रोमांस, रहस्य, जुनून, ईर्ष्या, कामुकता, अराजकतावाद, व्यक्तिवाद एवं समाज के परिधीय तत्वों के जीवन का वर्णन करती हैं। उनमें से कुछ मलयालम साहित्य में सर्वश्रेष्ठ मणि जाती हैं. उनकी पहली उपन्यास नक्षत्रंगले कावल थी जिसके लिए वर्ष 1972 में केरल साहित्य अकादमी पुरस्कार भी मिला था. उन्होंने मलयालम सिनेमा में कुछ ऐतिहासिक चलचित्रों का निर्माण भी किया.
  • वर्ष 1949 में पश्चिम जर्मनी संविधान को अंगीकार करने के बाद औपचारिक रूप से अस्तित्व में आया.
  • वर्ष 1949 में पेरू के पूर्व राष्ट्रपति ऐलन गार्सिया का जन्म लीमा, पेरू में हुआ था.गार्सिया पेरू के एपिस्टा पार्टी के दूसरे नेता और राष्ट्रपति के रूप में सेवा करने वाले एकमात्र पार्टी सदस्य थे. उन्होंने वर्ष 1985 -90 तक उसके बाद वर्ष 2006- 11 तक पेरू के राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया.
  • वर्ष 1984 में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट को फ़तह करने वाली पहली भारतीय महिला और दुनिया की 5वीं महिला पर्वतारोही बछेन्द्री पाल बनी.
  • वर्ष 2001 में पाकिस्तान ने भारत को एम०एफ़०एन० का दर्जा देने से पुन: इंकार किया.
  • वर्ष 2008 में भारत ने सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल पृथ्वी-2 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया.
  • वर्ष 2008 में अंतर्राष्ट्रीय संस्था इण्टरनेशनल आर्गेनाइजेशन फॉर स्ट्रेण्ड्राइजेशन द्वारा डिस्टिलरी को आईएसओ 9001 का प्रमाण पत्र प्रदान किया गया.
  • वर्ष 2008 में नेपाल के राजा ज्ञानेन्द्र ने नारायणहिती महल ख़ाली किया.
  • वर्ष 2008 में पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ़ ने सत्तारुढ़ पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी से नाता तोड़ा.
  • वर्ष 2008 में सोमालिया के समुद्री अपहर्ताओं ने भारतीय कर्मियों वाला जहाज़ छोड़ा.
  • वर्ष 2009 में दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति ‘रोह मू ह्यून’ अपने घर के नज़दीक पहाडियों से छलांग लगाकर आत्महत्या की.
  • वर्ष 2010 में मुख्य न्यायाधीश के०जी० बालाकृष्णन की अध्यक्षता में भारत के उच्चतम न्यायालय की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने बिना विवाह किये महिला और पुरुष का एक साथ रहना अपराध नहीं माना.
  • वर्ष 2010 में भारतीय नक्सली आंदोलन के जनक कानू सान्याल ने आत्महत्या कर जान दी थी.
  • वर्ष 2011 में हिन्दी के सुप्रसिद्ध मार्क्सवादी आलोचक, संगठनकर्ता और विश्व कविता के अनुवादकों में शुमार कामरेड चन्द्रबली सिंह का निधन 87 वर्ष की आयु में बनारस में हुआ था.
  • वर्ष 2016 में इसरो ने श्रीहरिकोटा(आंध्र प्रदेश) स्पेस सेंटर से भारत में बने स्पेस शटल RVL-TD को लॉन्च किया.