देश-दुनिया में 22 मई का इतिहास…

देश-दुनिया में 22 मई का इतिहास…

321
0
SHARE
राजा राममोहन राय आधुनिक शिक्षा के समर्थक थे तथा उन्होंने गणित एवं विज्ञान पर अनेक लेख तथा पुस्तकें लिखीं.फोटो:-गूगल.
  • वर्ष 1545 में भारत में ‘सूर साम्राज्य’ का संस्थापक और महान् योद्धा शेरशाह सूरी का निधन हुआ था. सूरी ने उत्तर भारत पर शासन कर सूर साम्राज्य की स्थापना वर्ष 1540-1556 में की थी.
  • वर्ष 1774 में भारतीय पुनर्जागरण के अग्रदूत और आधुनिक भारत के जनक राजा राममोहन राय का जन्म राधा नगर नामक बंगाल के एक गाँव में, पुराने विचारों से सम्पन्न बंगाली ब्राह्मण परिवार में हुआ था.उन्होंने अपने जीवन में अरबी, फ़ारसी, अंग्रेज़ी, ग्रीक, हिब्रू आदि भाषाओं का अध्ययन किया था. हिन्दू, ईसाई, इस्लाम और सूफ़ी धर्म का भी उन्होंने गम्भीर अध्ययन किया था. 17 वर्ष की अल्पायु में ही वे मूर्ति पूजा विरोधी हो गये थे. किशोरावस्था में उन्होने काफी भ्रमण किया और उन्होने वर्ष 1803-1814 तक ईस्ट इंडिया कम्पनी के लिए भी काम किया.राममोहन राय ने ईस्ट इंडिया कंपनी की नौकरी छोड़कर अपने आपको राष्ट्र सेवा में झोंक दिया और भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति के अलावा वे दोहरी लड़ाई लड़ रहे थे.दूसरी लड़ाई उनकी अपने ही देश के नागरिकों से थी जो अंधविश्वास और कुरीतियों में जकड़े थे.बाल-विवाह, सती प्रथा, जातिवाद, कर्मकांड, पर्दा प्रथा आदि का उन्होंने भरपूर विरोध किया.आधुनिक भारत के निर्माता, सबसे बड़ी सामाजिक – धार्मिक सुधार आंदोलनों के संस्थापक, ब्रह्म समाज, राजा राम मोहन राय सती प्रणाली जैसी सामाजिक बुराइयों के उन्मूलन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.हिन्दू समाज की कुरीतियों के घोर विरोधी होने के कारण वर्ष 1828 में उन्होंने ‘ब्रह्म समाज’ नामक एक नये प्रकार के समाज की स्थापना की. राजा राममोहन राय आधुनिक शिक्षा के समर्थक थे तथा उन्होंने गणित एवं विज्ञान पर अनेक लेख तथा पुस्तकें लिखीं. वर्ष1821 में उन्होंने ‘यूनीटेरियन एसोसिएशन’ की स्थापना की.
  • वर्ष 1859 में स्कॉटिश चिकित्सक, लेखक और भौतिकशास्त्री सर ऑर्थर कोनन डॉयल का जन्म स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग में हुआ था.उनके पिता का नाम चार्ल्स अल्टामोंट डॉयल का जन्म इंग्लैंड में आयरिश वंश में हुआ था और उनकी माँ, जन्म नाम मेरी फोली भी आयरिश थीं.कॉनन डॉयल को नौ वर्ष की उम्र में रोमन कैथोलिक जेसुइट प्रारंभिक स्कूल होडर प्लेस, स्टोनीहर्स्ट में भेजा गया था। उसके बाद वे 1875 तक स्टोनीहर्स्ट कॉलेज में गए.अध्ययन के दौरान कॉनन डॉयल ने लघु कथाओं का लेखन भी शुरू कर दिया था; उनकी पहली प्रकाशित कहानी चैम्बर्स एडिनबर्ग जर्नल में छपी थी उस वक्त उनकी उम्र 20 वर्ष थी.ऑर्थर कोनन आमतौर पर विज्ञान कल्पना कथाएँ, ऐतिहासिक उपन्यासों, नाटकों और रोमांस, कविता और विभिन्न कल्पना साहित्य के एक विपुल व सफल लेखक थे. उनकी सफलतम कृति  शरलॉक होम्स थी.
  • वर्ष 1925 में हिंदी और रूसी साहित्यम के आधुनिक सेतु निर्माताओं में से एक मदन लाल मधु का जन्म पंजाब(भारत) में हुआ था. उन्होंने प्रचुर मात्रा में रूसी लोक साहित्‍य, बाल साहित्‍य के लेखन-संकलन के साथ-साथ प्रो. मधु ने हिंदी-रूसी-शब्‍दकोश का निर्माण कर हिंदी छात्रों के लिए रूसी-सीखने का मार्ग प्रशस्‍त किया. हिंदी के रूसी अध्‍यापकों की अनेक प्रकार से सहायता करते हुए उन्‍होंने रूसी पत्रिका के हिंदी संस्‍करण का लंबे अरसे तक संपादन किया. मधु रूसी-हिंदी के मजबूत संवाद सेतु थे और मौलिक एवं अनूदित लेखन के क्षेत्र में इनके महत्‍व किसी प्रकार भी भुलाया नहीं जा सकता है.इन दो भाषाओं में इनके विशिष्‍ट रचनात्‍मक योगदान और अनुवाद कार्य के लिए इन्‍हें पुश्किन स्‍वर्ण पदक, मैत्री पदक, स्‍वर्णाक्षर पुरस्‍कार और भारत के राष्ट्रपति द्वारा पद्मश्री से विभूषित किया गया साथ ही केंद्रीय हिंदी संस्थान द्वारा पद्मभूषण डॉ. मो‍टूरि सत्‍यनारायण पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया.
  • वर्ष 1959 में जम्मू और कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती का जन्म बिजबेहारा के अनंतनाग ज़िले में हुआ था. इनके पिता का नाम मोहम्मद मुफ़्ती सैयद और माता नाम गुलशन नज़ीर हैं. महबूबा मुफ़्ती ने कश्मीर यूनिवर्सिटी से अपनी लॉ की डिग्री ली है. भारतीय राजनीतिज्ञ तथा जम्मू और कश्मीर की तेरहवीं और एक महिला के रूप में राज्य की प्रथम मुख्यमंत्री हैं और ये पाकिस्तानी समर्थक भी हैं इन्हीं की अगुवाई में पुलवामा बम ब्लास्ट हुआ था.
  • वर्ष 1984 में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट को फतह करने वाली पहली भारतीय महिला बछेन्द्री पाल बनी.
  • वर्ष 1972 में श्रीलंका का स्वतंत्रता संग्राम ब्रितानी साम्राज्य से आजाद होने तथा स्वशासन स्थापित करने के लिये लड़ा गया था. यह शान्तिपूर्ण राजनीतिक आन्दोलन था जो 20वीं शताब्दी के आरम्भिक दिनों में शुरू हुआ और इसका नेतृत्व शिक्षित मध्यम वर्ग ने किया. अंतत: 04 फ़रवरी 1948 को श्रीलंका को स्वतंत्रता मिल गयी और आज ही के दिन श्रीलंका गणतंत्र (रिपब्लिक) बना था.
  • वर्ष 1991 में भारत के प्रारम्भिक कम्युनिस्ट नेताओं में से एक श्रीपाद अमृत डांगे का निधन हुआ था.
  • वर्ष 2007 में भारतीय-अमेरिकी गणितज्ञ श्रीनिवास वर्धन को नार्वे का अबेल पुरस्कार प्रदान किया गया.
  • वर्ष 2008 में केन्द्रीय उच्च शिक्षण संस्थानो में ओबीसी छात्रों को 27% कोटा देने का आधारभूत ढाँचा खड़ा करने के लिए सरकार ने 10 हज़ार 328 करोड़ रुपये दिए.
  • वर्ष 2008 में मुंशी प्रेमचन्द की अमर कृति निर्मला सहित हिन्दी की पाँच रचनाओं के अनुवादक वर्ष 2007 के साहित्य अकादमी पुरस्कार हेतु चुने गए.
  • वर्ष 2008 में केन्द्र सरकार ने गुजरात दंगा पीड़ितों के लिए आर्थिक पैकेज देने की घोषणा की.
  • वर्ष 2010 में डा० क्रेग वेंटर, सैन डियागो (अमेरिका) के नेतृत्व वाली वैज्ञानिकों की 24 सदस्यीय टीम ने प्रयोगशाला में कृत्रिम जीवन बनाने में सफलता पाई थी.
  • वर्ष 2010 में जैव विविधता का अंतरराष्ट्रीय वर्ष घोषित किया गया है. जैव विविधता जीवन और विविधता के संयोग से निर्मित शब्द है जो आम तौर पर पृथ्वी पर मौजूद जीवन की विविधता और परिवर्तनशीलता को संदर्भित करता है.जैव विविधता किसी जैविक तंत्र के स्वास्थ्य का द्योतक माना जाता है.वर्तमान समय में पृथ्वी पर जीवन आज लाखों विशिष्ट जैविक प्रजातियों के रूप में उपस्थित हैं.जैव विविधता एक प्राकृतिक संसाधन है जिससे हमारी जीवन की सम्पूर्ण आवश्यकताओं की पूर्ति होती है. अक्सर, जीवविज्ञानी जैवविविधता को किसी क्षेत्र में गुणसूत्र, प्रजाति तथा पारिस्थिकि की समग्रता के रूप में परिभाषित करते हैं.
  • वर्ष 2011 में 20वीं सदी के जानेमाने चिंतक, इतिहासवेत्ता, संस्कृतज्ञ तथा सौंदर्यशास्त्री गोविन्द चन्द्र पाण्डे का निधन हुआ था.
  • वर्ष 2015 में सार्वजनिक जनमत संग्रह में समलैंगिक विवाह को वैध बनाने के लिए आयरलैंड गणराज्य दुनिया का पहला राष्ट्र बना.