देश-दुनिया में 10 मई का इतिहास….

देश-दुनिया में 10 मई का इतिहास….

496
0
SHARE
उर्दू के शायर कैफ़ी आज़मी ने फिल्मों, गजलों के अलावा देशभक्ति गीत लिखे थे.वहीं बांग्ला-हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध गायक, संगीतकार और अभिनेता पंकज मलिक ने भारतीय सिनेमा के इतिहास में पार्श्व गायन लाने वालों में वे अग्रणी थे. फोटो:-गूगल.
  • वर्ष 1526 में बाबर ने पानीपत की लड़ाई जीतने के बाद तत्कालीन भारत की राजधानी अकबराबाद (आगरा) में प्रवेश किया.
  • वर्ष 1774 में फ्रांस के राजा लुई 15वें की मौत के बाद लुई 16वां राजा बना. इतिहासकारों के अनुसार, लुई 16वां ईमानदार था और उसके विचार भी अच्छे थे लेकिन वह एक कमजोर प्रकृति का व्यक्ति था और सदैव ही किसी न किसी के प्रभाव में रहता था – पहले माँ और भाई के और अंत में अपनी पत्नी मारी ऐत्वानेत् के.
  • वर्ष 1796 में नेपोलियन ने लोदी ब्रिज के युद्ध में आस्ट्रिया को हराया था.
  • वर्ष 1834 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष अल्फ़्रेड बेब का जन्म आयरलैंड( डबलिन, गणराज्य) में हुआ था. वो आयरिश संसदीय पार्टी के राजनीतिज्ञ और संसद सदस्य के साथ-साथ तीसरे गैर भारतीय थे, जिन्हें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष बने. वो ब्रिटिश संसद के भी सदस्य रहे.
  • वर्ष 1857 में स्वतंत्रता संग्राम की पहली लड़ाई मेरठ में संध्या(शाम) से शुरू हुई थी.प्रत्येक वर्ष आज ही के दिन समस्त भारतवासी ”क्रान्ति दिवस“ मनाते है. प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को गुर्जर विद्रोह या भारतीय विद्रोह के नाम से भी जाना जाता है. इस क्रान्ति की शुरूआत करने का श्रेय अमर शहीद कोतवाल धनसिंह गुर्जर को जाता है.
  • वर्ष 1898 में जमना लाल बजाज पुरस्कार से सम्मानित प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी एवं राजनीतिज्ञ विचित्र नारायण शर्मा का जन्म गढ़वाल(उत्तरांचल) में हुआ था. गांधीजी के असहयोग आंदोलन के आह्वान पर आचार्य कृपलानी के नेतृत्व में (बी०ए० चतुर्थ वर्ष में विद्यालय छोड़कर) असहयोगी बन गए. उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलनों में भाग लिया और प्रत्येक आंदोलन में गिरफ्तार हुए. विचित्र नारायण शर्मा 1952,1957 और 1962 में उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य भी चुने गए.
  • वर्ष 1905 में बांग्ला और हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध गायक, संगीतकार और अभिनेता पंकज मलिक का जन्म कलकत्ता में हुआ था. उनके पिता का नाम मोनीमोहन और माता का नाम मोनोमोहिनी था.पंकज बंगाली तथा हिन्दी फ़िल्म संगीत में अपना अद्वितीय योगदान दिया था.भारतीय सिनेमा के इतिहास में पार्श्व गायन लाने वालों में वे अग्रणी थे.
  • वर्ष 1922 में महाराष्ट्र के प्रसिद्ध समाज सुधारक और दलितों के हितेषी छत्रपति साहू महाराज का निधन मुम्बई में हुआ था. वो कोल्हापुर के इतिहास में एक अमूल्य मणि के रूप में आज भी प्रसिद्ध हैं.छत्रपति साहू महाराज ऐसे व्यक्ति थे, जिन्होंने राजा ना होते हुए भी दलित और शोषित वर्ग के कष्ट को समझा और सदा उनसे निकटता बनाए रखी और उन्होंने दलित वर्ग के बच्चों को मुफ़्त शिक्षा प्रदान करने की प्रक्रिया भी शुरू की थी.साहू महाराज के शासन के दौरान बाल विवाह पर ईमानदारी से प्रतिबंधित लगाया साथ ही उन्होंने अंतरजातिय विवाह और विधवा पुनर्विवाह के पक्ष में समर्थन की आवाज़ भी उठाई थी.साहू महाराज ज्योतिबा फुले से प्रभावित थे और लंबे समय तक सत्य शोधक समाज, फुले द्वारा गठित संस्था के संरक्षण भी रहे.
  • वर्ष 1929 में भारतीय संविधान के विशेषज्ञ एवं पद्म भूषण से भी सम्मानित सुभाष कश्यप का जन्म चांदपुर में हुआ था. कश्यप संविधान के पारखी और देश के प्रहरी हैं. उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत एक शिक्षक के रूप में की थी. कश्यप एक पत्रकार तथा वकील रहे. वर्ष 1953 में सुभाष कश्यप लोक सभा में महासचिव बने. इसके बाद वह 37 सालों तक संसद से जुड़े रहे. वर्ष 1990 में संसद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली.देश की व्यवस्था को दिशा-निर्देश देने वाले संविधान और संविधान के अनुसार क़ानूनों का निर्माण करने वाली संसद के अध्ययन के लिए सुभाष कश्यप ने अपना जीवन समर्पित कर दिया.
  • वर्ष 1936 में भारतीय राष्ट्रवादी और राजनेता होने के साथ-साथ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और मुस्लिम लीग के पूर्व अध्यक्ष मुख़्तार अहमद अंसारी का निधन मसूरी से दिल्ली की यात्रा के दौरान ट्रेन में दिल का दौरा पड़ने से हो गया था.वे जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के संस्थापकों में से एक थे. वर्ष 1928 से 1936 तक वे इसके कुलाधिपति भी रहे थे.
  • वर्ष 1972 में नेवादा (अमेरिका) में परमाणु परीक्षण किया.
  • वर्ष 1980 में परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय सैनिक योगेन्द्र सिंह यादव का जन्म उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जनपद के औरंगाबाद अहिर गांव में हुआ था.उनके पिता करण सिंह यादव ने 1965 और 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्धों में भाग लेकर कुमाऊं रेजिमेंट में सेवा की थी.भारत और पाकिस्तान की नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान समर्थित घुसपैठियों ने वर्ष 1999 के प्रारम्भ में कारगिल क्षेत्र की 16-18 हजार फुट ऊंची पहाड़ियों पर कब्जा कर लिया था. 2जुलाई को कमांडिंग आफिसर कर्नल कुशल ठाकुर के नेतृत्व में 18 ग्रेनेडियर को टाइगर हिल पर कब्जा करने का आदेश मिला.‘घातक’ कम्पनी में ग्रेनेडियर योगेन्द्र सिंह यादव सहित 07 कमांडो शामिल थे.टाइगर हिल की चढ़ाई सीधी थी और कार्य काफ़ी मुश्किल था. टाइगर हिल में घुसपैठियों की तीन चौकियां बनीं हुई थीं। पहले मुठभेड़ के बाद पहली चौकी पर कब्जा कर लिया गया. आगे बढने के क्रम में भीषण मुठभेड़ हुआ जिसमे अकेले बचे ग्रेनेडियर योगेन्द्र सिंह यादव.ग्रेनेडियर योगेन्द्र सिंह यादव ने अपने अद्‌भुत साहस का परिचय देते हुए शेष बचे घुसपैठियों को भी मार गिराया और तीसरी चौकी पर कब्जा जमा लिया.इस संघर्ष में वह और अधिक घायल हो गए पर अपनी जांबाजी से अंतत: योगेन्द्र सिंह यादव टाइगर हिल पर तिरंगा फहराने में सफल रहे.मात्र 19 वर्ष कि आयु में परमवीर चक्र प्राप्त करने वाले इस वीर योद्धा ने उम्र के इतने कम पड़ाव में जांबाजी का ऐसा इतिहास रचा कि आने वाली पीढियां याद रखेगी.
  • वर्ष 1993 में पर्वतारोही संतोष यादव पहली ऐसी महिला है जिन्होंने विश्व के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर एवरेस्ट पर दो बार पहुंची थी.
  • वर्ष 1994 में दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला बने थे.
  • वर्ष 2002 में फ़िल्मजगत के मशहूर उर्दू के शायर कैफ़ी आज़मी का निधन मुम्बई में हुआ था. उन्होंने हिन्दी फिल्मों के लिए भी कई प्रसिद्ध गीतग़ज़लें भी लिखीं, जिनमें देशभक्ति का अमर गीत -“कर चले हम फिदा, जान-ओ-तन साथियों” भी शामिल है.
  • वर्ष 2003 में मोजाम्बिक के राष्ट्रपति जोकि अल्बर्टो फिसानों 06 दिवसीय यात्रा पर भारत पहुँचे थे.
  • वर्ष 2005 लाहौर-अमृतसर बस सेवा शुरू करने पर भारत और पाकिस्तान सहमत हुए.
  • वर्ष 2012 में दमिश्क(सीरिया) में हुए दो बम धमाके में 55 लोगों की मौत हो गई साथं ही 370 लोग घायल हो गए.
  • वर्ष 2014 में दक्षिण अफ्रीका के आम चुनाव में अफ्रीकी नेशनल कांग्रेस की जीत हुई थी.