डीटीएच (DTH) और केबल पर ट्राई का शिकंजा…

डीटीएच (DTH) और केबल पर ट्राई का शिकंजा…

11
0
SHARE
नए नियमों के अनुसार, अब ग्राहक जितने चैनल देखना चाहेंगे उन्हें उतने के ही पैसे देने होंगे.फोटो:-गूगल.

भारत में अभी भी आधी से अधिक आबादी आज भी केबल और डीटीएच के माध्यम से समाचार या मनोरंजन कार्यक्रम को देखते हैं लेकिन, केबल और डीटीएच के मनमानी से अक्सर परेशान भी होते रहते हैं. सबसे बड़ी बात तो यह है कि, केबल और डीटीएच वालों के पास मनमाने प्रोग्राम होते हैं और आप अगर देखना नहीं भी चाहते हैं तो ये आपके पैक्स में शामिल होते है, और आप मजबूरन उन प्रोग्राम को देखने के लिए मजबूर होते हैं.

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने केबल और ब्रॉडकास्‍ट इंडस्‍ट्री के लिए नए नियम जारी किए हैं. इन नए नियमों के अनुसार, अब ग्राहक जितने चैनल देखना चाहेंगे उन्हें उतने के ही पैसे देने होंगे. ट्राई (TRAI) ने अपने आदेश में कहा है कि, 29 दिसंबर से केबल और डीटीएच ऑपरेटर्स को 130 रुपये प्रति महीने में 100 फ्री टु एयर चैनल दिखाने होंगे. ट्राई ने कहा है कि, अगर कोई उपभोक्ता फ्री टु एयर चैनल के अलावा दूसरे चैनल देखना चाहते हैं तो उन्‍हें इसके लिए अलग से भुगतान करना होगा. नए नियमानुसार अब उपभोक्ताओं को इलेक्ट्रॉनिक यूजर गाइड में हर चैनल की एमआरपी दी जाएगी और ज्‍यादा पैसे वसूलना चैनलों के लिए गैर-कानूनी होगा. इस नियम का उल्‍लंघन करने वालों पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी.

ट्राई के चेयरमैन के अनुसार, नए नियम के बाद से अब लोगों पर जबरदस्ती पैकेज नहीं थोपा जाएगा. केबल ऑपरेटर्स की मनमानी पर लगाम लगेगी और लोग कम खर्च कर अपना मनोरंजन कर सकते हैं. अब केबल और डीटीएच ऑपरेटर्स उपभोक्ताओं पर जबरदस्‍ती पैकेज नहीं थोप पाएंगे. बताते चलें कि, आदेश स्टार इंडिया और ट्राई की कानूनी लड़ाई वर्ष 2016 से लंबित था जिसे पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट ने पास किया गया.