चार बैठकों में विश्वविद्यालय के गतिविधियों की गहन समीक्षा होगी…

चार बैठकों में विश्वविद्यालय के गतिविधियों की गहन समीक्षा होगी…

8
0
SHARE
अपने आदेश में विश्वविद्यालयों को पूर्व में दिये गए सभी निर्देशों की अनुपालन-स्थिति से तथ्यपूर्ण ढंग से अवगत कराने को कहा है. फोटो:-आईपीआरडी, पटना.

शुक्रवार को राज्यपाल लाल जी टंडन ने राज्यपाल सचिवालय के प्रधान सचिव को विश्वविद्यालय की गतिविधियों की गहन समीक्षा का निर्देश दिया है. राज्यपाल टंडन ने अपने आदेश में विश्वविद्यालयों को पूर्व में दिये गए सभी निर्देशों की अनुपालन-स्थिति से तथ्यपूर्ण ढंग से अवगत कराने को कहा है.

ज्ञात है की, विगत अक्टूबर 2018  में विश्वविद्यालयों में प्रशासनिक एवं वित्तीय नियमितता बनाये रखने के उद्देश्य से विश्वविद्यालय स्तरीय पदाधिकारियों की राजभवन स्तर पर समीक्षा बैठक आयोजित की गई थी एवं उन्हें उनके दायित्वों के प्रति सजग-सचेत रहने को कहा गया था. राज्यपाल टंडन के निदेशानुरूप पुनः जनवरी 2019 महीने में विश्वविद्यालय-अधिकारियों की राजभवन में पृथक-पृथक समीक्षा के लिए तिथियाँ निर्धारित कर दी गई हैं.

महामहिम-राज्यपाल-सह-कुलाधिपति टंडन ने के निदेशानुरूप आज विश्वविद्यालयों को निर्गत परिपत्र के अनुसार, वित्तीय परामर्शियों एवं वित्त पदाधिकारियों की बैठक आगामी 08 जनवरी 2019 को होगी, जिसमें, ‘जेम’ से खरीददारी, सेवान्त लाभ के मामलों के निष्पादन, अंकेक्षण, बजट तथा राज्य सरकार से प्राप्त वेतन एवं बकाये आदि की राशियों के भुगतान की स्थिति बताते हुए अपेक्षित प्रतिवेदन ‘एक्सेल-शीट’ में ऑन-लाईन उपलब्ध कराने को कहा गया है.

इसी तरह राज्य के विश्वविद्यालयों के सभी महाविद्यालय-निरीक्षकों की बैठक आगामी 09 जनवरी 2019 को आयोजित होगी, जिसमें प्रमुख रूप से बी॰एड॰ कॉलेजों के सम्बन्धन आदि की जाँच एवं तदनुरूप कृत कार्रवाई पर गहनता से विचार किया जाएगा.

राज्यपाल टंडन के निदेशानुरूप 11 जनवरी 2019 को विश्वविद्यालयों के सभी कुलसचिवों की बैठक आयोजित होगी, जिसमें विश्वविद्यालयों को दिये गए प्रशासनिक एवं वित्तीय निदेशों की अनुपालन-स्थिति की समीक्षा होगी.

जनवरी 2019 महीने की 17 तारीख को राजभवन में विश्वविद्यालय के सभी प्रतिकुलपतियों की बैठक होगी, जिसमें उनके द्वारा बतायी गई संबंधित विश्वविद्यालय की प्रमुख दो समस्याओं पर व्यापकता से विचार होगा. प्रतिकुलपतियों को चूँकि ‘UMIS(University Management Information System)’ के कार्यान्वयन का विशेष दायित्व दिया गया था. इसलिए इसकी कार्यान्वयन-स्थिति की भी गहनता से इस बैठक में समीक्षा होगी.

 राज्यपाल सचिवालय से आज निर्गत परिपत्र में कहा गया है कि उपर्युक्त चारों बैठकों में आनेवाले विश्वविद्यालय-पदाधिकारी पूरी तैयारी एवं तथ्यपरक प्रतिवेदनों के साथ बैठक में अनिवार्यतः उपस्थित हां, साथ ही ससमय ऑन-लाईन प्रतिवेदन भी राज्यपाल सचिवालय को उपलब्ध करा दें.