Health

क्यों फड़कती है आखें…

अक्सर हमारी आँखें फडकने लगती है और हम सभी इस समस्या से अक्सर ही रूबर होते है. घरों के बुजुर्ग अपनी अनुभव अनुसार उपाय भी प्रयोग करते हैं फिर भी परेशान होते है. आइये जानते हैं क्यूँ फड़कती है आँखें…

पलकों का फड़कना एक आम प्रक्रिया होती है. बताते चलें कि, इसमें आंखों के आसपास की मांसपेशियां अपने आप संकुचित होने लगती हैं, जिससे बहुत ही परेशानी महसूस होती है, लेकिन इससे मानव शरीर पर कोई भी नुकसान नहीं होता है. पलकों का फड़कना एक सामान्य प्रक्रिया है जो कुछ समय के बाद अपने आप ही बंद भी हो जाता है.

विशेषज्ञ के अनुसार इसका संबंध थकान से होता है या यूँ कहें कि, नींद की कमी या चाय व कॉफ़ी का ज्‍यादा प्रयोग, कम रोशनी में काम करना या देर तक कम्प्यूटर पर काम करना भी इसके कारण हो सकते हैं. विशेषज्ञ के अनुसार आंख फड़कने का अर्थ होता है आपकी मांसपेशियां थक गई हैं और उन्हें आराम देने की जरूरत होती है. जब भी आपको इस तरह की समस्या से परेशान हो तो आप, अपने आंखों के आसपास की मांसपेशियों की हल्की मालिश करें या  गर्म या ठंडी पट्टी लगायें, आंखों को गुनगुने पानी से धोना चाहिए. इससे आपको पलकों के फड़कने से होने वाली परेशानी से निजात मिल जाता है.

Related Articles

Back to top button