High School

आनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम…

शनिवार को मैथमेटिकल सोसाइटी के संजोजक व संयुक्त सचिव डॉ० विजय कुमार ने बताया कि हर शनिवार और रविवार को टीएसटीएम ओलंपियाड एवं टैलेंट नरचर कार्यक्रम के आनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम चल रहा है. मैथमेटिकल सोसाइटी के संजोजक व संयुक्त सचिव डॉ० कुमार ने बताया कि टैलेंट  सर्च टेस्ट इन मैथमेटिकल ओलंपियाड एवं टैलेंट नरचर कार्यक्रम मे कक्षा 06 -12, स्नातक एवं स्नातकोत्तर के साथ सिविल सेवा परीक्षा, आईआईटी, नेट आदि का प्रशिक्षण भी दिया जाता है.

इसी कार्यक्रम के तहत आज शनिवार 24 जुलाई 2021 को नालंदा जिला के जिला पदाधिकारी योगेन्द्र सिंह ने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के विकास के लिए सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों एवं शिक्षकों को गणित के प्रति अभिरुचि बढ़ाने की आवश्यकता है. जिला पदाधिकारी, नालंदा ने कहा कि इसी धरती पर नालन्दा विश्वविधालय जिसनें संपूर्ण विश्व को शिक्षा दी. उन्होंने कहा कि,पावापुरी से महावीर ने विश्व को अहिंसा एवं शांति का पाठ पढाया परन्तु आज, हम शिक्षा के क्षेत्र में पिछङ रहे है.

योगेन्द्र सिंह, जिला पदाधिकारी,नालंदा ने कहा कि मैथमेटिकल सोसाइटी के संजोजक व संयुक्त सचिव डॉ विजय कुमार के प्रयासों की सराहना करते हुये कहा कि, हम सभी विद्वतजन एवं जनप्रतिनिधि का अकादमिक समिति गठन कर जागरूकता अभियान चलाने की आवश्यकता है. वहीँ, पद्मश्री प्रो० एच० सी० वर्मा पूर्व प्रो० आई०आई०टी कानपुर ने कहा कि बिहार को शिक्षा के क्षेत्र में अग्रगण्य होने के लिए विजन,लक्ष्य,सोच एवं आधारभूत संरचना को विकसित करना होगा. गणित में फलन की सीमा कलन की एक मूलभूत अवधारणा है और विश्लेषण विशेष रूप से निविष्ट मान के परिवेश में फलन का व्यवहार की जानकारी देता है. औपचारीक रूप से इसकी प्रथम परिभाषा 19वीं  शताब्दी के पूर्वार्द्ध से है.

डॉ नूतन कुमार तोमर,आईआईटी पटना ने लिमिट एवं कनटीनयूटी पर चर्चा  करते हुए कहा कि गणित में किसी ‘चर राशि’ पर परिभाषित फलन सतत फलन कहलाता है यदि चर  में अल्प परिवर्तन करने पर फलन के मान में भी केवल अल्प परिवर्तन हो अन्यथा यह असतत फलन कहलाता है. एक सतत फलन के प्रतिलोम फलन का सतत होना आवश्यक नहीं. आई०आई०टी पटना के गणित विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ० ओम प्रकाश ने समुच्चय सिद्धांत के बारे में  विस्तृत जानकारी दी. स्मृति जूपिटर पटना के निदेशक जे० राय० एवं सुबोध गुप्ता निदेशक सरल सर्विसेज नालंदा एलुमनाई आई०आई०टी खड़कपुर, प्रो० एस० के० मिश्र, प्राचार्य एस० एस० एस० कालेज जहानाबाद द्वारा बच्चों को ग्रास रूट को मजबूत करने पर जोर दिया.

सुनीता सिन्हा ने बच्चो और शिक्षकों से अपील करते हुये कहा कि, ज्यादा से ज्यादा बच्चे ओलंपियाड परीक्षा में भाग लेने के लिए आनलाईन www.bmsbihar.org या ऑफलाईन आवेदन करे. इस कार्यक्रम में आए हुए अतिथियों का स्वागत केशव प्रसाद जिला शिक्षा पदाधिकारी, नालंदा ने किया. इस कार्यक्रम में गणित एवं विज्ञान मे अभिरुचि रखने वाले शिक्षकों एवं बच्चों ने बड़ी संख्या में भाग लिया.

Related Articles

Back to top button