आईआईटी कानपुर के चार प्रोफेसरों के खिलाफ उत्पीड़न का मामला दर्ज…

आईआईटी कानपुर के चार प्रोफेसरों के खिलाफ उत्पीड़न का मामला दर्ज…

9
0
SHARE
आईआईटी कानपुर के एयरोस्पेस विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसरने उत्पीड़न के आरोप में विभाग के चार वरिष्ठ प्रोफेसरों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है. फोटो:-गूगल.

आईआईटी कानपुर के एयरोस्पेस विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ० सुब्रमण्यम सडरेला ने उत्पीड़न के आरोप में विभाग के चार वरिष्ठ प्रोफेसरों के खिलाफ सोमवार को कल्याणपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया गया है. डॉ० राजीव, डॉ० ईशान,  डॉ० संजय मित्तल, डॉ० चंद्रशेखर उपाध्याय और एक अज्ञात शख्स के खिलाफ आईटी एक्ट, मानहानि, एससी-एसटी एक्ट की धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई है.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि, यह मामला दलित समुदाय के एक संकाय सदस्य ने दर्ज कराया है और यह मामला अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति उत्पीड़न निवारण कानून की विभिन्न धाराओं में दर्ज किया गया है. पुलिस को मामले की जांच के निर्देश दिए गए हैं.

डॉ० सडरेला ने आरोप लगाया है कि नियुक्ति से पहले और बाद में उनके खिलाफ चारों प्रोफेसरों ने साजिश रची और गलत तरीके से उन्हें अयोग्य ठहराने के लिए प्रोफेसरों के बीच बैठकें कीं साथ ही आपत्तिजनक बातें भी कहीं. डॉ० सडरेला ने कहा कि, जब उन्होंने इसकी शिकायत की तो मामला साफ हो गया और दो अलग-अलग जांच कमेटी ने चारों प्रोफेसरों को दोषी भी  ठहराया. नेशनल कमीशन फॉर शेड्यूल कास्ट (एनसीएससी) ने भी चारों पर कार्रवाई के लिए निदेशक और विभागाध्यक्ष को कई बार निर्देश भी जारी किया.

डॉ० सडरेला ने आरोप लगाया कि, 17 अक्टूबर को इंस्टीट्यूट के बोर्ड ऑफ गवर्नेंस (बीओजी) की बैठक होनी थी जिसमें इन चारों प्रोफेसरों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित होनी थी, उससे पहले ही चारों प्रोफेसरों ने मिलकर 15 अक्टूबर को एक फेक ई-मेल अकाउंट के जरिए निदेशक सहित सभी प्रोफेसरों को ई-मेल किया. इसमें मुझे बदनाम करने के लिए आरोप लगाया गया कि मेरी पीएचडी की थिसीस चोरी की हुई है. डॉ० सडरेला ने ई-मेल जारी करने वाले के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई है. उन्होंने आरोप लगाया कि, आरोपी प्रोफेसरों ने अन्य संस्थान में यह अफवाह फैलाई कि वह आरक्षण कोटे के तहत यहां भर्ती हुआ है और उसे सवालों के जवाब देना भी नहीं आता है.