अमेरिका में दुनिया के सबसे बड़े विमान ने पहली उड़ान भरी…

अमेरिका में दुनिया के सबसे बड़े विमान ने पहली उड़ान भरी…

282
0
SHARE
इस विमान का निर्माण अंतरिक्ष में रॉकेट ले जाने और उसे वहां छोड़ने के लिए किया गया है.फोटो:-गूगल.

शनिवार को कैलिफोर्निया(अमेरिका) में दुनिया के सबसे बड़े विमान ‘स्ट्रैटोलॉन्च’ ने परीक्षण के लिए पहली बार उड़ान भरी. इस विमान ने अपनी पहली यात्रा मोजावे रेगिस्तान के ऊपर की. इस विमान का निर्माण स्केल्ड कम्पोजिट्स नाम की इंजीनियरिंग कंपनी ने किया है.

बताते चलें कि, स्ट्रैटोलॉन्च नामक दुनिया के सबसे विशाल विमान ने सफलतापूर्वक पहली उड़ान भरी. मोजावे रेगिस्तान के ऊपर पहली उड़ान करीब 2.5 घंटे के लिए भरी, इस दौरान विमान की रफ्तार 189 मील प्रति घंटे की रफ्तार से टॉप रफ्तार पर पहुँच गया.

बीबीसी की खबरों के अनुसार,  इस विमान में दो एयरक्राफ्ट्ट बॉडी हैं जो आपस में जुडी हुई हैं. इस विमान में बोइंग 747 के 06 इंजन लगाए गए हैं. यह पहली उड़ान में 15 हज़ार फ़ुट की ऊंचाई तक चला गया और इसकी अधिकतम गति 170 मील प्रति घंटा रही. यह विमान इतना बड़ा है कि इसके पंख का फैलाव एक फुटबॉल मैदान से ज्यादा है.

बताते चलें कि, इस विमान का निर्माण अंतरिक्ष में रॉकेट ले जाने और उसे वहां छोड़ने के लिए किया गया है. वर्तमान समय में टेकऑफ रॉकेट की मदद से उपग्रहों को कक्षा में भेजा जाता है. लेकिन, इस विमान के सफलतापूर्वक परीक्षण के बाद स्ट्रैटोलॉन्च नामक विमान की सहायता से रॉकेट उपग्रहों को अंतरिक्ष में उनकी कक्षा तक पहुंचाने में मदद करेगा.

स्ट्रेटोलॉन्च की स्थापना 2011में माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक स्व० पॉल ऐलान द्वारा ऑर्बिटल-क्लास स्पोर्ट्स के लिए उड़ान लॉन्च पैड के रूप में विकसित करने के लिए की गई थी.ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रेंसन की कंपनी वर्जिन गेलेक्टिक ने भी ऐसा विमान बनाया है जो ऊंचाई से अंतरिक्ष की कक्षा में रॉकेट भेज सकता है.